UAE का पहला मार्स मिशन HOPE जापान से लॉन्च, मिडिल ईस्ट के देशों के लिए बड़ा बदलाव

यूएई (UAE) इस प्रोजेक्ट को अरब के युवाओं के लिए प्रेरणा के स्रोत के रूप में भी पेश करना चाहता है. यह एक इस्लामिक खासकर मिडिल ईस्ट (Middle East) देशों के लिए बड़े बदलाव का संकेत भी देने वाला मिशन है.
UAE First Mars Mission, UAE का पहला मार्स मिशन HOPE जापान से लॉन्च, मिडिल ईस्ट के देशों के लिए बड़ा बदलाव

अरब स्पेस मिशन ने सोमवार को मंगल ग्रह के लिए अपना पहला मार्स मिशन होप (HOPE) को लॉन्च कर दिया है. हालांकि मौसम की वजह से इसकी लॉन्चिंग में कुछ देरी हुई.

लॉन्चिंग के दौरान एक लाइव फीड में रॉकेट को मानव रहित जांच करते दिखाया गया है, जिसे अरबी में अल -अमल कहा जाता है. अंतरिक्ष यान की लॉन्चिंग दक्षिणी जापान के तेनगाशिमा अंतरिक्ष केंद्र से हुई है. यूएई इस प्रोजेक्ट को अरब के युवाओं के लिए प्रेरणा के स्रोत के रूप में भी पेश करना चाहता है. यह एक इस्लामिक खासकर मिडिल ईस्ट देशों के लिए बड़े बदलाव का संकेत भी देने वाला मिशन है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

रॉकेट निर्माता मित्सुबीशी हेवी इंडस्ट्रीज ने लॉन्च के कुछ देर बाद एक बयान में कहा कि हमने H-IIA व्हीकल नंबर 42 (H-IIA F 42) से अमीरात मार्स मिशन के होप स्पेस क्राफ्ट को जापान के स्थानीय समय 6:58:14 पर लॉन्च कर दिया. भारतीय समयानुसार यह मिशन सुबह 3:28 पर लॉन्च हुआ. लॉन्च के पांच मिनट बाद रॉकेट अपनी उड़ान के पहले सेपरेशन को अंजाम दे रहा था.

अक्टूबर में कम होती है मंगल की पृथ्वी से दूरी

अमीराती प्रोजेक्ट मंगल ग्रह पर जाने वाले तीन प्रोजेक्ट में से एक है, जिसमें चीन के ताइनवेन-1 और अमेरिका के मार्स – 2020 भी शामिल हैं. यह एक ऐसे समय का फायदा उठा रहे हैं, जब धरती और मंगल के बीच की दूरी सबसे कम होती है. नासा के मुताबिक अक्टूबर महीने में मार्स पृथ्वी से करीब 38.6 मीलियन माइल्स कम हो जाएगी.

मिडिल ईस्ट देशों के युवाओं के लिए बड़ी उम्मीद

HOPE के अगले साल यानी 2021 के फरवरी महीने में मंगल ग्रह  की कक्षा तक पहुंचने की उम्मीद है. इसके बाद यह एक मंगल वर्ष यानी 687 दिनों तक उसकी कक्षा में चक्कर लगाएगा. अगले साल सात अमीरातों के मिलकर यूएई बनने की 50वीं सालगिरह भी होगी.इस मार्स मिशन का मकसद इस लाल ग्रह के पर्यावरण और मौसम के बारे में जानकारी इकट्ठा करना है. इसका एक बड़ा लक्ष्य अगले 100 साल में मंगल पर इनसानी बस्ती बनाने के बारे में भी बताया जा रहा है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

 

Related Posts