Coronavirus: राष्ट्रपति ट्रंप ने अमेरिका में लागू की ‘नेशनल इमरजेंसी’, राज्यों को 50 अरब डॉलर की मदद

दुनियाभर में अब तक 1 लाख 35 हजार से ज्यादा लोग कोरोना (Coronavirus) से संक्रमित हो चुके हैं और 4950 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी नोवल कोरोना वायरस (Novel Coronavirus) को महामारी घोषित कर चुका है.
US President Donald Trump On Coronavirus, Coronavirus: राष्ट्रपति ट्रंप ने अमेरिका में लागू की ‘नेशनल इमरजेंसी’, राज्यों को 50 अरब डॉलर की मदद

दुनियाभर में अब तक 1,35,000 से ज्यादा लोग कोरोना (Coronavirus) से संक्रमित हो चुके हैं और 4950 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी नोवल कोरोना वायरस (Novel Coronavirus) को महामारी घोषित कर चुका है. इसी कड़ी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अमेरिका में नेशनल इमरजेंसी (National Emergency) की घोषणा कर दी है.

राष्ट्रपति ट्रंप ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते अमेरिका (America) में नेशनल इमरजेंसी (National Emergency) की घोषणा की है, इसके साथ ही अमेरीकी सरकार अब राहत कार्यों में 50 अरब डॉलर का खर्च कर सकेगी. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रंप ने प्राइवेट सेक्टर और हेल्थ सेक्टर में काम कर रहीं कई कंपनियों से जुड़े लोगों को भी बुलाया था.

Donald Trump Latest Update:

  • अमेरिका में नेशनल इमरजेंसी घोषित.
  • हम वायरस के खतरे को दूर करेंगे.
  • राज्यों के लिए 50 बिलियन डॉलर की मदद दी जाएगी.
  • यूरोप से आने वाले सभी लोगों की स्क्रीनिंग होगी.
  • जरूरत पड़ने पर ही कोरोना का टेस्ट कराएं.
  • अमेरिका में कोरोना से अब तक 41 लोगों की मौत.
  • राज्यों को तुरंत इमरजेंसी केंद्र स्थापित करने हैं और सभी अस्पतालों को अपनी इमरजेंसी सेवाओं को एक्टिव रखना है.
  • अमेरिका आने वाले यात्रियों पर अगले 30 दिन तक के लिए प्रतिबंध. हालांकि ब्रिटेन को छूट दी गई है.
  • कई स्क्रीनिंग के बाद ही अमेरिकियों को अपने देश लौटने की छूट होगी.
  • यूरोपीय संघ (European Union) कोरोना वायरस के बढ़ते असर को फैलने से रोकने में नाकाम रहा.
  • चीन (China) और दक्षिण कोरिया (South Korea) में हालात की निगरानी की जा रही है.
  • नागरिकों से गैर जरूरी यात्रा पर नहीं जाने की अपील.
  • इस वक्त हम एक हैं और हम राजनीति नहीं करेंगे. पक्षपात को बंद कर एक राष्ट्र और एक परिवार के रूप में एकजुट होंगे.

 

Related Posts