कांग्रेस ने फोड़ा ‘डायरी’ बम, येदुरप्पा ने बीजेपी के बड़े नेताओं को पहुंचाए घूस के पैसे

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक न्यूज मैगजीन में प्रकाशित कथित डायरी में येदुरप्पा के हस्ताक्षर और 2690 करोड़ रुपयों के लेनदेन का आरोप लगाया है.

नई दिल्ली : लोकसभा चुनावों से पहले सत्ताधारी दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस ने कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए बीजेपी पर पैसों के लेनदेन और भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए एक डायरी जारी की है. कांग्रेस की तरफ से रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बी.एस. येदुरप्पा और दिवंगत अनंत कुमार के बीच 14 फरवरी 2017 को हुई बातचीत के ऑडियो का हवाला देते हुए कहा कि वो तथाकथित डायरी सामने आ चुकी है जिसमें बीजेपी के बड़े नेताओं को पैसे पहुंचाने की डीटेल है.

The Caravan मैगजीन ने एक ट्वीट करके इसकी पुष्टी की है. मैगजीन ने अपने ट्वीट में येदुरप्पा की डायरी के एक पेज की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि येदुरप्पा ने बीजेपी की सेंट्रल कमेटी को 1000 करोड़ रुपये दिए जिसमें अरुण जेटली और नितिन गडकरी को 150 करोड़, राजनाथ सिंह को 100 करोड़, लाल कृष्ण अडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को 50 करोड़ रुपये मिले.

कांग्रेस ने 14 फरवरी 2017 को येदुरप्पा और अनंत कुमार के बीच हुई बातचीत का एक ऑडियो जारी किया था जो एक हजार करोड़ रुपए के लेनदेन से जुड़ा था. वीडियो में येदुरप्पा किसी डायरी की बात कर रहे थे, कांग्रस ने अब उसी डायरी के सामने आने की बात करते हुए बीजेपी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं. एक न्यूज़ मैगजीन में प्रकाशित खबर का हवाला देते हुए सुरजेवाला ने कहा कि डायरी में यह साफ लिखा है कि 2690 करोड़ रुपये वसूले गए और 1800 करोड़ रुपये बीजेपी के बड़े नेताओं को पहुंचाए गए. कांग्रेस ने आगे कहा कि बीजेपी सेंट्रल कमेटी, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर सारे नेता बैठते हैं उन्हें भी करोड़ों रुपये दिए गए.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इस डायरी के हर पन्ने पर येदुरप्पा के हस्ताक्षर हैं और जजों के लिए 250 करोड़ रुपये भी रखे जाने की बात लिखी है. हालांकि कांग्रेस ने डायरी की सत्यता का दावा नहीं किया लेकिन कहा कि न्यूज मैगजीन की रिपोर्ट के आधार पर इसकी जांच होनी चाहिए.

सुरजेवाला ने कहा कि इनकम टैक्स विभाग के पास अगस्त 2017 से ये डायरी मौजूद है लेकिन फिर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई. इसके अलावा मैगजीन ने इस मामले पर इनकम टैक्स विभाग, CBDT से लेकर जेटली, गडकरी आदि नेताओं से सम्पर्क किया लेकिन कोई जवाब नहीं आया. मैगजीन ने आगे यह भी दावा किया कि CBDT इस डायरी की फोरेंसिक ऑडिट करना चाहता था लेकिन इस मामले में जांच नहीं करवाई गई. सुरजेवाला ने कहा, ‘न्यूज मैगजीन की रिपोर्ट के अनुसार, इस मुद्दे की जांच की अनुमति मोदी सरकार ने नहीं दी. अब बीजेपी को बताना चाहिए कि यह डायरी थी या नहीं, थी तो कहां है.

यहां देखें रणदीप सिंह सुरजेवाला का वीडियो –