• Home  »  ट्रेंडिंग   »   ये नहीं है कोई मामूली चूहा, बहादुरी के लिए मिला है इसे गोल्ड मेडल, काम नहीं है हीरो से कम

ये नहीं है कोई मामूली चूहा, बहादुरी के लिए मिला है इसे गोल्ड मेडल, काम नहीं है हीरो से कम

ये चूहा अपनी बहादुरी के लिए सुर्खियां में है. इसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे क्योंकि इसे उसकी बहादुरी के लिए गोल्ड मेडल से सम्मानित भी किया गया है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 2:24 pm, Sat, 26 September 20

घरों में चूहों के आतंक से परेशान लोग अक्सर उनको मारने के नए-नए तरीके ढ़ूंढते हैं. कभी चूहे मार दवाई तो कभी उनको पकड़ने के लिए चूहेदानी का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन सभी चूहे सिर्फ नाक में दम करने वाले नहीं होते और ये बात दुनियाभर में वाहवाही बटौर रहे एक चूहे ने सच कर दिखाई है. ये चूहा अपनी बहादुरी के लिए सुर्खियां में है. इसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे क्योंकि इसे उसकी बहादुरी के लिए गोल्ड मेडल से सम्मानित भी किया गया है.

हम बात कर रहे हैं बेल्जियम के रजिस्टर्ड एपीओपीओ (APOPO) ऑर्गेनाइजेशन के वेल ट्रेंड चूहे की जिसका नाम ‘मगावा’ है. मगावा अफ्रीकी नस्ल का पाउच्ड रैट है, जिनका साइज बड़ा होता है. मगावा को ब्रिटेन की चैरिटी संस्था पीडीएसए (PDSA) ने उसके बेहतरीन काम के लिए गोल्ड मेडल दिया है. पीडीएसए हर साल बेहतरीन काम करने वाले जानवरों को सम्मानित करती है. लेकिन ये 77 साल में पहली बार हुआ जब संस्था ने किसी चूहे को इस तरह का पुरस्कार दिया है.

‘मेगावा’ ने कम्बोडिया में 39 बारूदी सुरंगों और 28 विस्फोटकों का पता लगाया है. मेगावा की इसी बहादुरी और बुद्धीमानी के लिए पीडीएसए ऑर्गेनाइजेशन ने उसे गोल्ड मेडल से सम्मानित किया है. अपने 7 साल के करियर में इस हीरो रैट ने 39 लैंड माइंस ध्वस्त किए हैं.

ये भी पढ़ें: ये है एक ऐसा देश जहां शादी करने वालों को सरकार देगी 4 लाख से ज्यादा रुपए

मगावा को तैयार करने वाली संस्था एपीओपीओ पिछले करीब 30 साल से चूहों को ट्रेनिंग दे रही है और इन्हें स्निफर डॉग के जैसे बनाती हैं. ये संस्था तंजानिया में काम करती है. बारूदी सुरंगे ढ़ूंढना और उनको खत्म करना बेहद मुश्किल काम है, लेकिन मगावा जैसे सुपर रैट के लिए ये कोई बड़ी बात नहीं है. इसी कारण इन कामों के लिए मगावा जैसे चूहों का इस्तेमाल किया जाता है. इन चूहों का खास ख्याल रखा जाता है. एजेंसी का कहना है कि इन चूहों को सूंगने की शक्ती कुत्तो से भी ज्यादा तोज होती है. और इसलिए इन्हें ‘हीरो माइस’ बुलाया जाता है.