तनिष्क विवाद: जारा ने ट्वीट की निखिल से शादी की तस्वीर, शशि थरूर बोले- यही तो है Inclusive India

लड़की का नाम है जारा फारूकी. उन्होंने अपने ट्विटर पर अपनी शादी की तस्वीरें पोस्ट की और लिखा कि यह उनके लिए, जिन्होंने तनिष्क के बहिष्कार की बात की और जिन्होंने अलग-अलग धर्म को लेकर सवाल उठाए.

ज्वेलरी ब्रांड तनिष्क के वीडियो विज्ञापन पर मचे बवाल के चलते, कंपनी ने विज्ञापन को वापस ले लिया. ट्विटर सहित सोशल मीडिया के कई दूसरे प्लेटफॉर्म पर इस विज्ञापन को लेकर काफी बवाल मचा, लेकिन इस बीच एक लड़की ने ट्विटर पर अपनी शादी की तस्वीर पोस्ट की और विरोध करने वाले लोगों को अपनी शादी की पूर कहानी बताई.

दरअसल लड़की का नाम है जारा फारूकी. उन्होंने अपने ट्विटर पर अपनी शादी की तस्वीरें पोस्ट की और लिखा, “यह उनके लिए, जिन्होंने तनिष्क के बहिष्कार की बात की और जिन्होंने अलग-अलग धर्म को लेकर सवाल उठाए. मेरा पहला नाम जारा फारूकी है और 2016 मेरी शादी निखिल परवाल से हुई है और ये हमारी शादी की तस्वीरें हैं.”

जारा ने आगे लिखा, “हमने हिंदू रीति-रिवाजों के साथ एक बड़ी भारतीय शादी की, जिसमें 4 दिन तक परिवार, दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ दूर-दूर से आने वाले लोग हमें आशीर्वाद देने के लिए आए थे. मेरे पति के परिवार और उनके दूर के रिश्तेदारों ने मुझे प्यार दिया और स्वीकार किया.”


उन्होंने लिखा कि यद्यपि मैं समझती हूं कि कुछ बंद दिमाग वाले लोगों के लिए यह अकल्पनीय है, लेकिन वास्तविक भारत में, जो जाति और धर्म से परे है, ऐसा होता है और परिवार एक दूसरे की परंपराओं को खुले हाथों और असीम प्रेम के साथ स्वीकार करते हैं और उनका सम्मान करते हैं.

“गंगा जमुनी तहजीब का एक जीता जागता उदाहरण”

जारा फारूकी, जिनके ट्वटिर हैंडल का नाम है ‘जारा राज परवाल’, ने आखिर में लिखा, “आशा है कि सभी नफरत करने वालों को अपने जीवनकाल में इस तरह के बिना शर्त प्यार और सम्मान का अनुभव होगा.”

अब इस कहानी में नया मोड़ तब आया जब कांग्रेस ने नेता शशि थरूर ने जारा के ट्वीट को रीट्वीट किया और लिखा, “यह जानकर खुशी हुई कि जारा फारूकी और निखिल परवाल ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस के सदस्य हैं. जारा पुणे नॉर्थ चैप्टर के सचिव हैं और निखिल फाइनेंस फंड जुटाने वाली टीम में हैं. ये दोनों भारत की गंगा जमुनी तहजीब का एक जीता जागता उदाहरण हैं.”

दअरसल तनिष्क के वीडियो विज्ञापन में एक समृद्ध मुस्लिम परिवार की हिंदू बहू की गोदभराई का सीन था, जिसमें हिंदू बहू अपनी मुस्लिम सासु मां से पूछती है कि ये रस्म तो आपके घर में होती भी नहीं है? तो सासु मां का जवाब होता है कि लेकिन बेटी को खुश रखने की रस्म तो हर घर में होती है.

इस विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर काफी बवाल मचाया गया. इतना ही नहीं वीडियो पर कई लोगों ने यहां तक कहा कि यह लव-जिहाद को बढ़ावा देता है, जिसके बाद तनिष्क ने इस वीडियो विज्ञापन को वापस ले लिया.

आखिरकार तनिष्क को हटाना पड़ा दो धर्मों को मिलाने वाला वीडियो… इतना गुस्सा पालकर हम कहां जा रहे हैं?

Related Posts