चीन में मिला पेशेंट जीरो, कोरोना का खात्‍मा करने में साबित होगा टर्निंग पॉइंट!

करीब एक महीने चले इलाज के बाद यह महिला पेशेंट पूरी तरह से ठीक हो चुकी है. महिला का कहना है कि सरकार ने अगर इस बीमारी (covid-19) को लेकर जल्दी कदम उठाए होते तो मौतें कम होतीं.
corona virus Patient zero, चीन में मिला पेशेंट जीरो, कोरोना का खात्‍मा करने में साबित होगा टर्निंग पॉइंट!

चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस (Coronavirus) अब तक दुनिया के 140 से अधिक देशों में फैल चुका है. चीन में अब तक 81,394 लोग इस बीमारी की चपेट में आये हैं , जिसमे 3,295 लोग दम तोड़ चुके हैं. इसी दौरान विदेशी मीडिया ने दावा किया है कि वैश्विक महामारी बन चुका कोरोना वायरस के पहले पेशेंट का पता लग गया है. ऐसे में सवाल ये उठता है कि कोरोना के ‘पेशेंट जीरो’ का मिलना डॉक्टर्स के लिए COVID-19 की दवा ढूंढने के मामले में टर्निंग पॉइंट साबित होगा?

देखिए #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जनरल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 57 वर्षीय वेई गायक्सियन कोरोना संक्रमण के मामले में ‘पेशेंट जीरो’ (Patient Zero) है. पेशेंट जीरो का मतलब, वह व्यक्ति जिसमें किसी बीमारी के लक्षण सबसे पहले देखे गए हों. रिपोर्ट के मुताबिक ये महिला चीन में हुन्नान प्रांत के मछली बाजार में झींगे बेचने का काम करती थी. 10 दिसंबर 2019 को महिला ने एक सार्वजनिक शौचालय का इस्तेमाल किया और इसके बाद उसे सर्दी-जुकाम हो गया.

सीफूड मार्केट से संक्रमित

31 दिसंबर को वुहान म्यूनिसिपल हेल्थ कमीशन (Wuhan Municipal Health Commission) ने सबसे पहले इस महिला का नाम जाहिर किया था. ये महिला उन 27 मरीजों में शामिल थीं, जिन्हें सबसे पहले कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया. इन 27 मरीजों में से 24 सीधे तौर पर उसी सीफूड मार्केट से संक्रमित हुए थे, जहां पर यह महिला झींगे बेचती थी.

पूरी तरह से ठीक हो चुकी है महिला

मिरर UK अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक महिला ने इसे कॉमन फ्लू समझा था, क्योंकि उन्हें सर्दी-जुकाम हुआ था. वे एलेवेंथ अस्पताल गईं जहां उन्हें फ्लू की दवाएं ही दी गईं थीं. शुरुआती दवा लेने के बाद हालत में सुधार नहीं हुआ, तो उन्हें 16 दिसंबर को वुहान के सबसे बड़े अस्पताल वुहान यूनियन हॉस्पिटल ले जाया गया. फिर डॉक्टर्स को इस संक्रमण की जानकारी मिली और फिर सभी को क्वारंटीन किया गया. खास बात यह है कि करीब एक महीने चले इलाज के बाद यह महिला पूरी तरह से ठीक हो चुकी है. महिला का कहना है कि सरकार ने अगर इस बीमारी (COVID-19) को लेकर जल्दी कदम उठाए होते तो मौतें कम होतीं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts