Boys Locker Room: पैरेंट्स रखेंगे ये सावधानियां तो सोशल मीडिया पर बच्चे रहेंगे सेफ

अक्सर हम बिना सोचे समझे बच्चों को स्मार्टफोन (Smartphone) थमा देते हैं, बिना इसकी परवाह किए कि वो फोन पर कितना समय बिता रहा है और क्या देखने में बिता रहा है.
boys locker room, Boys Locker Room: पैरेंट्स रखेंगे ये सावधानियां तो सोशल मीडिया पर बच्चे रहेंगे सेफ

पिछले दिनों ट्विटर पर #boyslockerroom ट्रेंड में रहा. वजह, ‘Boys Locker Room’ नाम का दिल्ली के टीनेज स्टूडेंट्स का एक इंस्टाग्राम ग्रुप (Instagram Group) , जिसमें टीनेज लड़कियों के अभद्र फोटो अपलोड किए जा रहे थे. लड़कियों के फोटो पर गंदे-गंदे कमेंट किए जा रहे थे. ग्रुप में शामिल लड़कों ने लड़कियों की बॉडी और उनके हर पार्ट पर अश्लील टिप्पणी और चैट पर गैंगरेप की प्लानिंग तक कर डाली थी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

ये तमाम बातें हैरान और परेशान करने वाली हैं. खासकर तक जब आप खुद पैरेंट हों. अक्सर हम बिना सोचे समझे बच्चों को स्मार्टफोन थमा देते हैं, बिना इसकी परवाह किए कि वो फोन पर कितना समय बिता रहा है और क्या देखने में बिता रहा है. इंस्टाग्राम ग्रुप ‘Boys Locker Room’ की ही बात करें तो पैरेंट की सतर्कता से शायद इस मामले को रोका जा सकता था.

एक जिम्मेदार पैरेंट होने के नाते बच्चों/ टीनेजर्स की एक्टिविटी पर नजर रखना जरूरी है. इसके लिए कुछ आसान से टिप्स हैं जिन्हें आप फॉलो कर सकते हैं…

1. बच्चों को फोन देने का एक फिक्स शेड्यूल बनाएं, उस सीमित टाइमलाइन के लिए ही उन्हें फोन दें. बच्चों के दिन भर फोन चलाने पर रोक लगाएं.

2. लॉकडाउन के इस दौर पर ई-लर्निंग पर जोर दिया जा रहा है, लेकिन बेहतर होगा कि बच्चों को स्मार्टफोन देने की बजाय उन्हें लैपटॉप या डेस्कटॉप पर पढ़ाई करने को कहें.

3. आपका बच्चा कौन-कौन से सोशल प्लेटफॉर्म पर है ये जानने की कोशिश करें, बेहतर होगा कि आप खुद भी इन सारे सोशल प्लेटफॉर्म पर एक्टिव रहें. इससे आपको बच्चे की एक्टिविटीज और इंटरेस्ट का पता चलेगा.

4. कोशिश करें की बच्चों के सोशल अकाउन्ट्स में आप भी जुड़े हों और उनकी फ्रेंडलिस्ट में कौन-कौन हैं, उनकी टाइमलाइन पर कैसे लोग एक्टिव हैं इस पर गौर करें.

5. बच्चों को साइबर क्राइम और हैकिंग के लिए अवेयर करें. उन्हें सेफ रहने के लिए पर्सनल जानकारी किसी से भी न शेयर करने की सलाह दें.

6. सोशल प्लेटफॉर्म्स पर अपनी लोकेशन शेयर न करें, फोटो या वीडियो की प्रॉपर्टी डिलीट करने बाद उसे अपलोड करें.

7. सोशल मीडिया चीजों को पब्लिकली शेयर करने की बजाय उन्हीं लोगों के साथ शेयर करें जिन्हें आप जानते हैं. इसके लिए प्राइवेसी का ऑप्शन होता है.

8. बच्चों को सोशल मीडिया के इस्तेमाल के लिए जागरूक रखें जिसमें अनजान लोगों से दूरी, इमोशन कंट्रोल, सेफ्टी और डाटा प्राइवेसी शामिल है.

9. आप चाहें तो गूगल अलर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके जरिए आपके सिस्टम पर मौजूद हर मीडिया फाइल (फोटो/वीडियो) की जानकारी हर घंटे आपको मेल पर मिलती रहेगी.

10. आप खुद भी बच्चों के सामने स्मार्टफोन्स से दूरी बनाकर रखें, क्योंकि बच्चे देखकर ही सीखते हैं. जब तक आप खुद नहीं बदलेंगे वो आपकी सुनने वाले नहीं हैं.

11. आखिरी और बड़ी बात… सबसे ज्यादा जरूरी है बच्चों से बात करना, उन्हें सही गलत का फर्क समझाना और सही काम करने की सलाह देना.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts