Budget 2020: इनकम टैक्स बचाने के लिए विदेश में रहने का पैंतरा नहीं आएगा काम, जानें नया नियम

अब टैक्स बचाने के लिए दुबई जैसी जगहों पर जाने वालों को मुश्किल हो जाएगी. बजट में इसके लिए नया सिस्टम पेश किया गया है जिसके दूरगामी परिणाम होंगे.

टैक्स बचाने के लिए लोग अलग-अलग तरह के पैंतरे आजमाते हैं लेकिन इनमें जो सबसे बड़ा तरीका है वह है विदेश में बस जाना. दुनिया में कुछ देशों को ‘टैक्स हैवेन’ कहा जाता है क्योंकि वहां की सरकार अपने नागरिकों से इनकम टैक्स नहीं लेती. भारत के लोग इन देशों में चले जाते हैं ताकि टैक्स न भरना पड़े.

अब टैक्स बचाने के लिए दुबई जैसी जगहों पर जाने वालों को मुश्किल हो जाएगी. बजट में इसके लिए नया सिस्टम पेश किया गया है. नियम यह है कि अगर आप भारतीय हैं , भारतीय पासपोर्ट रखते हैं और किसी दूसरे देश में इनकम टैक्स की व्याख्या में नहीं आते हैं तो इनकम के मुताबिक भारत में ही टैक्स देना होगा.

बजट में जोड़े गए इस प्रावधान के दूरगामी परिणाम होंगे. अभी तक यह नियम था कि जो व्यक्ति 182 दिन से ज्यादा भारत में रहता है वह इनकम टैक्स की परिभाषा में आ जाता है, नए नियम में यह अवधि घटाकर 120 दिन कर दी गई है. अगर कोई 120 दिन या उससे ज्यादा भारत में रहा तो उसे यहीं का रेजिडेंट माना जाएगा और उसे इनकम टैक्स नियम के मुताबिक टैक्स देना पड़ेगा.

ये भी पढ़ेंः

Income Tax Calculator: जानिए आपकी सैलरी में कितना देना होगा टैक्स

Budget 2020: जानिए क्या-क्या हुआ सस्ता और कौन सी चीजें हुईं महंगी