वोटर लिस्ट में नहीं है नाम तो ऐसे करें आवेदन, 13 अप्रैल लास्‍ट डेट

अगर अब तक वोटर लिस्ट में आपका नाम नहीं जुड़ पाया है, तो अभी भी आपके पास मौका है. इन तरीकों के जरिए आप मतदान कर सकेंगे.

नई दिल्ली: पहले चरण में हुए लोकसभा चुनाव वोटर आइकार्ड होने के बावजूद निर्वाचन आयोग की लिस्ट में मौजूद कुछ वोटर्स के नाम गायब मिले, तो कुछ को अपना नाम खोजने कई घंटे का वक्त लगा. इस बात से लोगों में नाराजगी देखने को मिली. इस तरह की परेशानी आगे होने वाले मतदान में न आए इसके लिए वोटर लिस्ट में नाम ऐड करवाने के लिए 13 अप्रैल तक समय दिया गया है.

गौरतलब है कि छठे चरण में दिल्ली की सात और हरियाणा की 10 सीटों पर मतदान होना है. देश की राजधानी दिल्ली की सात सीटों पर मतदान छठे चरण में 12 मई को होंगे. ऐसे में अगर किसी का नाम वोटर लिस्ट में नहीं है तो वो 13 अप्रैल की शाम तक ऑफलाइन और रात 12 बजे तक ऑनलाइन अप्लाई कर अपना नाम लिस्ट में जुड़वा सकते हैं.

दिल्ली में वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने की अंतिम तिथि 13 अप्रैल है. शनिवार शाम पांच बजे तक आप लिस्ट में अपना नाम जोड़ने के लिए आवेदन कर सकते हैं, इस डेट के बाद वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाना मुमकिन नहीं होगा. दिल्ली के चुनाव कार्यालय अनुसार, ऑनलाइन फॉर्म 13 अप्रैल की रात 12 बजे तक जमा करवाया जा सकता है, जबकि शाम 5 बजे तक ऑफलाइन फॉर्म जमा कर सकते हैं. बता दें कि 13 अप्रैल के बाद वोटर लिस्ट में नाम ऐड करने के लिए आवेदन देने पर आप अगले चुनावों में वोट कर पाएंगे.

घर बैठे कैसे जुड़वाएं नाम ?
जो लोग 1 जनवरी, 2019 के हिसाब से 18 साल के हो चुके हैं, वोटर लिस्ट में अपना नाम जुड़वा सकते हैं. इसके लिए उनको फॉर्म-6 भरना होगा. अगर आप चाहते हैं कि इसके लिए आपको कहीं न जाना पड़े तो आप http://www.nvsp.in वेबसाइट पर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते है.
आपको बस वेबसाइट पर जाकर ‘न्यूा वोटर एप्लानई’ पर क्लिक करना है. क्लिक करते ही फॉर्म-6 ओपन हो जाएगा. फॉर्म में मांगी डिटेल को ध्यान से भरना है, और सबमिट करना है. फॉर्म फिल करने के बाद इसे सेव जरूर कर लें.

ऑफलाइन कैसे अप्लाई करें?
अगर आपका इंटरनेट से कोई वास्ता नहीं है तो स्थानीय कार्यालय जाकर भी आप वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने के लिए फॉर्म भर सकते हैं. इसके लिए आप समीपी मतदाता पंजीकरण कार्यालय में जाकर आवेदन कर सकते हैं. ध्यान रहे इसके लिए आपके पास सिर्फ 13 अप्रैल की शाम पांच बजे तक का समय शेष है.

ये भी पढ़ें-  इलेक्टोरल बॉन्ड को लेकर SC सख्त, कहा- EC को दें चंदा देने वाले की जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *