नए और पुराने रेट्स के हिसाब से कितना होगा टैक्‍स, सरकारी कैलकुलेटर में ऐसे देखें

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने नया ई-कैलकुलेटर लॉन्‍च किया है. इस ई-कैलकुलेटर के जरिए आप यह फैसला कर पाएंगे कि नए या पुराने, किस टैक्‍स स्‍लैब के तहत टैक्‍स भरना है.
Income Tax e-Calculator Launched by Govt, नए और पुराने रेट्स के हिसाब से कितना होगा टैक्‍स, सरकारी कैलकुलेटर में ऐसे देखें

अगर आप भी इनकम टैक्‍स की पुरानी और नई दरों में कंफ्यूज्‍ड हैं तो अच्‍छी खबर है. आयकर विभाग ने एक ई-कैलकुलेटर लॉन्‍च किया है. इसके जरिए आप पुरानी टैक्‍स दरों के मुकाबले नई दरों के हिसाब से टैक्‍स क्‍या होगा, ये देख सकेंगे. इस ई-कैलकुलेटर के जरिए आप यह फैसला कर पाएंगे कि नए या पुराने, किस टैक्‍स स्‍लैब के तहत टैक्‍स भरना है.

वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिए यह ई-कैलकुलेटर विभाग की आधिकारिक ई-फाइलिंग वेबसाइट पर मौजूद है. इसे और ‘यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए अपडेट भी किया गया है. यह यूजर को बताएगा कि पुरानी दरों और नई दरों में टैक्‍स क्‍या होगा और क्‍या दोनों के हिसाब से टैक्‍स का आउटफ्लो बराबर है या नहीं.

यहां क्लिक कर देखें इनकम टैक्‍स ई-कैलकुलेटर

क्‍या हैं टैक्‍स की नई दरें?

आम बजट 2020-21 में आयकर की दरों में कटौती करके करदाताओं को तोहफा दिया है. पांच लाख रुपये से 7.50 लाख रुपये तक की आय वाले करदाताओं को अब 20 फीसदी के बजाए 10 फीसदी आयकर देना होगा.

नई कटौती के बाद अब 7.50 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक की आय कमाने वाले करदाताओं को 15 फीसदी आयकर देना होगा जबकि पहले उनको 20 फीसदी आयकर देना चुकाना होता था. वहीं, 10 लाख रुपये से लेकर 12.50 लाख रुपये तक की आय पर आयकर की दर 30 फीसदी से घटाकर 20 फीसदी कर दी गई है.

12.50 लाख रुपये से लेकर 15 लाख रुपये तक की आय पर आयकर की दर 30 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी कर दी गई है. हालांकि 15 लाख रुपये से ऊपर की आय वाले आयकर दाताओं के लिए आयकर की दर पूर्ववत 30 फीसदी रखी गई है.

ये भी पढ़ें

एक क्लिक से देनी होगी सरकारी नौकरी की परीक्षा, जानें क्या है सरकार की नई योजना

कितना फायदेमंद है Budget 2020, आसान शब्‍दों में समझें बातें सारी काम की

Related Posts