नए साल में ट्रेन का सफर होगा महंगा? रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने किया इशारा

पिछले सप्‍ताह रेलवे बोर्ड के प्रवक्‍ता आरडी बाजपेई ने कहा था कि ‘किराया बढ़ाने का कोई प्रस्‍ताव नहीं है.’

  • TV9.com
  • Publish Date - 8:33 am, Fri, 27 December 19
irctc, irctc trains, irctc train list, irctc cancelled train list, irctc list of cancelled trains

रेल का सफर जल्‍द ही महंगा हो सकता है. सरकार किराया बढ़ाने पर विचार कर रही है. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने इस ओर इशारा किया है. अगर केंद्र सरकार हरी झंडी देती है तो अगला वित्‍त वर्ष शुरू होने से पहले ही किराया बढ़ जाएगा. NDA सरकार में पांच साल पहले रेल किराया बढ़ा था.

यादव ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से कहा, “हम किराये और माल भाड़े को राशनलाइज करने जा रहे हैं. माल भाड़ा पहले ही बहुत ज्‍यादा है तो मुझे नहीं लगता कि हम उसे बढ़ाएंगे. लॉजिस्टिक्स कॉस्‍ट घटाने के लिए हमें माल भाड़े को राशनलाइज करने की जरूरत है.” हालांकि उन्‍होंने कोई टाइम-फ्रेम नहीं दिया कि इतने दिन के भीतर फैसला हो जाएगा.

पिछले सप्‍ताह रेलवे बोर्ड के प्रवक्‍ता आरडी बाजपेई ने कहा था कि ‘किराया बढ़ाने का कोई प्रस्‍ताव नहीं है.’ IE ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि रेल किराया बढ़ाने का प्रस्‍ताव सरकार के पास महीनों से पड़ा है.

रेल मंत्री पीयूष गोयल के सामने जो प्रस्‍ताव गया है, उसमें सिचुएशन के हिसाब से किराया घटाने-बढ़ाने की व्‍यवस्‍था है. जैसे- लोअर क्‍लास के टिकट महंगे ना किए जाएं, या उनका किराया भी बढ़ाया जाए, अलग-अलग क्‍लास का स्‍लैब बनाया जाए, सब-अर्बन रेलवे के लिए प्रति किलोमीटर के हिसाब से किराया तय हो.

यह वित्‍तीय वर्ष खत्‍म होने तक रेलवे के राजस्‍व में 20,000 करोड़ रुपये की कमी आ सकती है. रेल किराये में बढ़ोतरी लंबे समय से अटकी हुई है. पिछली बार 2014 में किराया बढ़ा था. तब 14.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी और माल भाड़ा 6.6 प्रतिशत बढ़ाया गया था. हालांक‍ि उसका अप्रूवल यूपीए सरकार ने दिया था.

ये भी पढ़ें

भारतीय रेलवे के लिए सबसे सुरक्षित रहा यह साल, हादसों में नहीं गई किसी यात्री की जान

एयरपोर्ट जैसे रेलवे स्‍टेशंस पर पैसेंजर्स को देना होगा एक्‍स्‍ट्रा चार्ज, जानिए क्‍यों