1 सितंबर से बदल जाएंगी ये 9 चीजें, इग्‍नोर किया तो होगा बड़ा नुकसान

1 सितंबर से ट्रैफिक रूल्‍स तोड़ने पर 10 गुना जुर्माना चुकाना होगा. प्रॉपर्टी खरीदते समय चुकाया जाने वाला TDS और बढ़ेगा.

1 सितंबर, 2019 से देश में कई बदलाव आने वाले हैं. आधार, PAN से लेकर इंश्‍योरेंस, कैश विड्रॉल, TDS जैसी 9 चीजें इस तारीख से बदल जाएंगी. बजट के कुछ ऐलान और कई बदलाव 1 सितंबर से लागू हो जाएंगे. क्‍या और कैसे बदलेगा, आइए जानते हैं.

IRCTC पर टिकट बुकिंग

इंडियन रेलवेज कैटरिंग एंड टूरिज्‍म कॉर्पोरेशन (IRCTC) के पोर्टल से टिकट बुक करने पर अब सर्विस चार्ज देना होगा.

ट्रैफिक रूल्‍स तोड़े तो लगेगी करारी चपत

1 सितंबर, 2019 से मोटर वेहिकल्‍स एक्‍ट में किए गए बदलाव प्रभावी हो रहे हैं. अब ट्रैफिक रूल्‍स तोड़ने पर 10 गुना जुर्माना चुकाना होगा.

ज्‍यादा नकदी निकालने पर टैक्‍स

अब सालभर में किसी बैंक अकाउंट से 1 करोड़ रुपये से ज्‍यादा रकम निकालने पर 2% TDS वसूला जाएगा.

छोटे-छोटे ट्रांजेक्‍शंस पर भी नजर

अभी तक बैंक 50 हजार रुपये से ज्‍यादा के लेन-देन की जानकारी ही आयकर विभाग को देते थे. हालांकि 1 सितंबर से यह सीमा हट जाएगी. अब बैंकों को आपके टैक्‍स रिटर्न्‍स वेरिफाई करने के लिए छोटे ट्रांजेक्‍शंस की जानकारी देने को भी कहा जा सकता है.

PAN-AADHAAR लिंकिंग

अगर आपका आधार कार्ड और PAN लिंक नहीं है तो आयकर विभाग अब आपको नया PAN जारी करेगा.

घर की खरीदारी

प्रॉपर्टी खरीदते समय चुकाया जाने वाला TDS अब और बढ़ेगा. ऐसा इसलिए क्‍योंकि अब प्रॉपर्टी की कीमत में कार पार्किंग और क्‍लब मेंबरशिप जैसी सुविधाओं के खर्च भी जुड़ेंगे, फिर टैक्‍स कैलकुलेट होगा.

घर की मरम्‍मत

अगर आप घर की मरम्‍मत करवा रहे हैं और साल भर में 50 लाख रुपये से ज्‍यादा का भुगतान करते हैं तो 5% TDS लगेगा.

इंश्‍योरेंस पर TDS

अगर लाइफ इंश्‍योरेंस की मैच्‍योरिटी आपके हाथों में आने के बाद टैक्‍सेबल है तो नेट इनकम (कुल मिली रकम-पेड इंश्‍योरेंस प्रीमियम) पर 5% TDS देना होगा.

सर्विस टैक्‍स बकाया तो राहत

टैक्‍स विवाद के लंबित मामले क्लियर करने और सर्विस और सेंट्रल एक्‍साइज टैक्‍स बकाया वालों को राहत देने के लिए नई योजना 1 सितंबर से प्रभावी.

ये भी पढ़ें

असम की फाइनल NRC लिस्ट में नाम है या नहीं? ऐसे करें चेक

सेल्‍फी लेने के शौकीन हैं तो पढ़ लें ये ख़बर, कर लेंगे तौबा