अकेले कर रहे हैं ड्राइविंग तो भी क्या मास्‍क पहनना जरूरी है?, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया जवाब

साइकिल चलाते वक्त और समूहों में जॉगिंग करते समय मास्क (Mask) पहनना महत्वपूर्ण है. अगर कार के भीतर आपके के साथ और भी लोग मौजूद हैं तो फेस मास्क पहना जा सकता है.
covid-19, अकेले कर रहे हैं ड्राइविंग तो भी क्या मास्‍क पहनना जरूरी है?, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया जवाब

अगर आप अकेले अपनी निजी कार या वाहन चला रहे हैं तो फेस मास्क (face mask) की जरूरत नहीं है. साइकिल चलाते वक्त और समूहों में जॉगिंग करते समय मास्क (Mask) पहनना महत्वपूर्ण है. अगर कार के भीतर आपके के साथ और भी लोग मौजूद हैं तो फेस मास्क पहना जा सकता है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health ministry) ने गुरूवार को यह स्पष्ट किया. वहीं मंत्रालय ने सामुहिक शारीरिक गतिविधि के दौरान भी मास्क पहनने की सलाह दी.

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं किया है कि यदि कोई अकेला साइकिल चला रहा है तो मास्क का इस्तेमाल करना अनिवार्य है.

कब और कहां जरूरी है मास्क

उन्होंने कहा कि “पिछले कुछ दिनों में लोगों में शारीरिक गतिविधियों के लाभों के बारे में जागरूकता आई है. हमने देखा कि लोग समूहों में साइकिल चलाना, व्यायाम या जॉगिंग कर रहे हैं. कहा कि लोग जब समूह में होते हैं तो उनके लिए मास्क पहनना जरूरी है, साथ ही सामाजिक दूरी का पालन करना भी अनिवार्य है. ताकि वे एक-दूसरे को संक्रमित न करें. उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति अकेले साइकिल चला रहा है, तो उसे मास्क पहनने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि स्वास्थ्य मंत्रालय से ऐसा कोई निर्देश नहीं है. भारत में COVID -19 को लेकर
एक साप्ताहिक मीडिया ब्रीफिंग के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण भूषण यह बातें कही.

गौरतलब है कि भारत में COVID-19 महामारी के मद्देनजर, सरकार ने संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए एक निवारक उपाय के तौर पर प्रत्येक व्यक्ति के लिए मास्क पहनना अनिवार्य किया है.

डॉक्टर की सलाह, क्यों जरूरी है मास्क

डॉक्टरों के अनुसार, लोग वायरस वाले अन्य लोगों से COVID -19 की पकड़ में आ सकते हैं. जब कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति खांसी या साँस छोड़ता है तो नाक या मुंह से निकलने वाली छोटी बूंदों के माध्यम से यह बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकती है. व्यक्ति के मुंह से निकलने वाली ये बूंदें आसपास की वस्तुओं और उनकी सतहों पर भी आ जाती है. अन्य लोग तब इन वस्तुओं या सतहों को छूकर और फिर अपनी आँखों, नाक या मुँह को छूते हैं तो COVID -19 वायरस के चपेट में आ जाते हैं. यही कारण है कि फेस मास्क पहनना या अपने मुंह को ढंकना और सामाजिक दूरी बनाए रखना महत्वपूर्ण है.

कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 38 लाख पार, 67 हजार लोग गंवा चुके जान

गौरतलब है कि भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 38,53407 लाख के पार हो चुका है. हालांकि करीब 30 लाख लोग इसी बीमारी से ठीक हो चुके हैं. भारत में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 815538 है जबकि अब तक 67376 लोग जान गंवा चुके हैं.

Related Posts