तेजस एक्‍सप्रेस से कर रहे सफर? इस वजह से लेट हुई ट्रेन तो नहीं मिलेगा रिफंड

19 अक्‍टूबर को Tejas Express तीन घंटे से ज्‍यादा लेट थी. इस वजह से IRCTC ने यात्रियों को 1.62 लाख रुपये बतौर मुआवजा दिया था.
Tejas Express IRCTC, तेजस एक्‍सप्रेस से कर रहे सफर? इस वजह से लेट हुई ट्रेन तो नहीं मिलेगा रिफंड

IRCTC की तेजस एक्‍सप्रेस (Tejas Express) ट्रेन में देरी होने पर रिफंड का प्रावधान है. हाल के दिनों में ट्रेन लेट होने पर पैसेंजर्स को IRCTC की तरफ से रिफंड दिया भी गया. हालांकि रिफंड देने की कुछ शर्तें हैं जो कहती हैं कि ‘एक्‍ट ऑफ गॉड’ की वजह से होने वाली देरी पर रिफंड नहीं मिलेगा.

सर्दियां आ रही हैं. धुंध और कोहरे की वजह से अक्‍सर ट्रेनें लेट चलती हैं. ऐसे में इसे ‘एक्‍ट ऑफ गॉड’ बताकर पैसेंजर्स को रिफंड देने से मना किया जा सकता है. पूरी दुनिया में बहुत सारे इंश्‍योरेंस क्‍लेम्‍स को ‘एक्‍ट आफ गॉड’ बताकर रिजेक्‍ट कर दिया जाता है.

IRCTC के मैनेजिंग डायरेक्‍टर एमपी मल्‍ल ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से कहा, “कायदे से कोहरे के चलते होने वाली देरी ‘एक्‍ट ऑफ गॉड’ कही जानी चाहिए. हम इसपर फैसला करेंगे. हम एक घंटे से दो घंटे के बीच देरी के लिए मुआवजे की रकम भी बढ़ा सकते हैं.”

लखनऊ और दिल्‍ली के बीच चलने वाली Tejas Express देश की पहली ऐसी ट्रेन है जिसे कॉर्पोरेट चला रहा है. 19 अक्‍टूबर को यह ट्रेन तीन घंटे से ज्‍यादा लेट थी. इस वजह से IRCTC ने यात्रियों को 1.62 लाख रुपये बतौर मुआवजा दिया था. देश में ट्रेन लेट होने पर मुआवजा देने का यह पहला वाकया था. IRCTC ने अहमदाबाद और मुंबई के बीच भी तेजस एक्‍सप्रेस चलाने का फैसला किया है.

IRCTC Tejas Express: रिफंड का पैसा बीमा कंपनियां देती हैं और IRCTC टिकट बेचकर इसका प्रीमियम भरता है. अगर ट्रेन एक घंटे से ज्‍यादा लेट होती है तो कंपनी हर ग्राहक को 100 रुपये रिफंड करती है. दो घंटे से ज्‍यादा की देरी पर हर पैसेंजर को 250 रुपये रिफंड करता है.

ये भी पढ़ें

IRCTC पर अब OTP डालते ही मिल जाएगा रिफंड, जानें पूरा प्रोसेस

तेजस एक्सप्रेस में महिला स्टाफ से बदतमीजी करने वाले यात्रियों को ‘सबक’ सिखाएगी रेलवे

Related Posts