यूपी में महंगी हुई बिजली, जानें कितना बढ़ जाएगा आपका बिल

उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग के इस आदेश से घरेलू बिजली कीमतों में 10 से 15 फीसदी तक की बढ़ोतरी की गई है, जबकि कमर्शियल की कीमतों में 5 से 10 फीसदी का इजाफा होगा.

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार ने बिजली कीमतों में इजाफा कर दिया है. सरकार ने शहरी, ग्रामीण क्षेत्र के साथ ही कमर्शियल बिजली की कीमतों में भी इजाफा कर दिया है. उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग के इस आदेश से घरेलू बिजली कीमतों में 10 से 15 फीसदी तक की बढ़ोतरी की गई है, जबकि कमर्शियल की कीमतों में 5 से 10 फीसदी का इजाफा होगा.

बिजली कीमतों में बढ़ोतरी के योगी सरकार के फैसले पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, “एक तरफ़ घटती आय व मांग और बढ़ती लागत की वजह से देश की उत्पादकता दर लगातार नीचे जा रही है. वहीं, प्रदेश में बिजली की दरें ऊपर जा रही हैं. कारोबारी व जनता सब त्रस्त हैं. उप्र में निवेश की घोषणाएं भी थोथी साबित हो रही हैं क्योंकि इनके लिए कोई भी बैंक पैसा लगाने के लिए तैयार नहीं है.”


उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन ने बिजली कीमतों में 25 फीसदी बढ़ोतरी की मांग की थी, लेकिन सरकार ने बीच का रास्‍ता निकालते हुए 15 प्रतिशत तक कीमतों में बढ़ोतरी की.

नियामक आयोग उपभोक्ताओं पर लगने वाले 4.28 फीसदी सरचार्ज को भी खत्म करने जा रहा है. इस नुकसान की भरपाई भी बिजली कीमतों में बढ़ोतरी से की जाएगी. यदि आप दो से पांच किलोवाट तक बिजली इस्‍तेमाल करते हैं तो प्रतिमाह बिल में औसतन 100 से 300 रुपये तक की बढ़ोतरी हो सकती है.