मोदी है तो मुमकिन है, पिता की बहाली के लिए 13 साल के बच्चे ने पीएम को लिख डालीं 37 चिट्ठी

इससे पहले सार्थक ने जितनी चिट्ठी पीएम मोदी को भेजीं, उनका उसे कोई रिस्पांस तो नहीं मिला, लेकिन अब उसके परिवार को धमकियां मिलने लगी हैं.
Sarthak Tripathi pm narendra modi, मोदी है तो मुमकिन है, पिता की बहाली के लिए 13 साल के बच्चे ने पीएम को लिख डालीं 37 चिट्ठी

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर का रहने वाला 13 साल का सार्थक त्रिपाठी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह कर रहा है कि उसके पापा की फिर से नौकरी बहाल की जाए. सार्थक त्रिपाठी के पिता उत्तर प्रदेश स्टॉक एक्सचेंज में काम करते थे, लेकिन उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया.

साल 2016 से सार्थक अपने पिता की नौकरी बहाली के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख रहा है. सार्थक अब तक 36 चिट्ठियां लिख चुका है. शुक्रवार को उसने अपना 37वां पत्र पीएम को लिखा, जिसमें उसने डिटेल में बताया कि पिता की नौकरी न होने के कारण इन दिनों उसका परिवार कई परेशानियों से जूझ रहा है.

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, सार्थक ने कहा, “मैंने मोदी बाबा जी से रिक्वेस्ट की है कि वो मेरे पिता की मदद करें, जिन्हें कुछ लोगों के द्वारा जबरन यूपीएसई की नौकरी से निकाल दिया गया.”

इससे पहले सार्थक ने जितनी चिट्ठी पीएम मोदी को भेजीं, उनका उसे कोई रिस्पांस तो नहीं मिला, लेकिन अब उसके परिवार को धमकियां मिलने लगी हैं. रिपोर्ट के अनुसार, सार्थक ने कहा, “मेरे पिता को फोन पर मिल रही धमकियों के पीछे, मुझे लगता है कि मेरी ये चिट्ठियां हैं. वे मेरे पिता और परिवार को मारने की धमकी दे रहे हैं.”

सार्थक चाहता है कि उसके पिता के साथ जिन्होंने भी गलत किया, उन्हें सजा मिलनी चाहिए. पीएम मोदी को दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने की बधाई देते हुए सार्थक ने कहा, “मैंने कई लोगों से सुना है, मोदी है तो मुमकिन है और इसलिए ही मैंने पीएम मोदी से सिफारिश की है मेरी विन्नती सुनें.”

Related Posts