उत्तर प्रदेश में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया से संबंध रखने वाले 25 लोग गिरफ्तार: पुलिस

योगी आदित्यनाथ सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है.
Popular Front of India, उत्तर प्रदेश में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया से संबंध रखने वाले 25 लोग गिरफ्तार: पुलिस

नागरिकता कानून के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के बीच उत्तर प्रदेश के मेरठ में हिंसा हुई. इस हिंसा के बाद पुलिस इन हिंसक झड़पों के तार पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से जोड़कर देखे. जिसके बाद योगी आदित्यनाथ सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की. उत्तर प्रदेश पुलिस का दावा है कि उसके पास इन हिंसक झड़पों में PFI सदस्यों के शामिल होने के साक्ष्य मौजूद हैं.

आईजी लॉ एंड ऑर्डर प्रवीण कुमार का कहना है कि उत्तर प्रदेश में अलग-अलग आपराधिक घटनाओं के आरोप में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया से संबंधित 25 लोगों को राज्यभर से गिरफ्तार किया गया है. यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने भी अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि PFI के सदस्यों ने राज्य के कई हिस्सों में हिंसा फैलाई थी और इसी के साथ उन्होंने संगठन पर प्रतिबंध लगाए जाने की सलाह दी.

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, “स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के कुछ पूर्व सदस्य PFI में शामिल हो गए हैं और उन्होंने राज्य के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शनों किए हैं. ऐसे असामाजिक तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा और हमारी सरकार PFI पर प्रतिबंध लगाएगी.” लखनऊ पुलिस ने 24 दिसंबर को PFI के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया था, जिसमें प्रदेश अध्यक्ष भी शामिल था, जो पुलिस के मुताबिक हिंसा का मास्टरमाइंड था.

ये भी पढ़ें: आखिर क्‍यों बांग्‍ला-तमिल समेत चार भाषाएं सीख रहे हैं बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह?

Related Posts