यूपी पुलिस की लापरवाही से 3 कॉन्स्टेबल हुए संक्रमित, फतेहपुर में एक दिन में 11 पुलिसकर्मी Corona पॉजिटिव

एसपी फतेहपुर को चिट्ठी लिख कॉन्स्टेबलों ने आगरा (Agra) पुलिस लाइन में तैनात RI विनय कुमार शाही के खिलाफ शिकायत की है. कॉन्स्टेबलों का कहना है कि बस में एक साथ बैठने को लेकर उन्होंने विरोध किया, लेकिन विनय कुमार शाही ने उन्हें डांट फटकार कर चुप करा दिया और सभी 29 लोगों को एक साथ बस में भेज दिया.

उत्तर प्रदेश पुलिस की लापरवाही के चलते 3 कॉन्स्टेबल कोरोनावायरस (Coronavirus) की चपेट में आ गए हैं. वहीं फतेहपुर में एक दिन में 11 पुलिसकर्मी कोरोनावायरस से संक्रमित हुए हैं. इस पूरे मामले में यूपी पुलिस की बड़ी लापरवाही देखने को मिली है. दरअसल 6 मई को आगरा जिले से कुल 29 पुलिसकर्मियों को एक ही बस में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए दूसरे जिलों के लिए भेजा गया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

29 पुलिसकर्मियों में से 6 फतेहपुर (Fatehpur) पुलिस लाइन में एकसाथ क्वारंटीन में रखे गए. जिनमें से 2 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. 14 दिन तक साथ रहे छह कॉन्स्टेबल में से बाकी चार दहशत में हैं. एसपी फतेहपुर को चिट्ठी लिख कॉन्स्टेबलों ने आगरा पुलिस लाइन में तैनात RI विनय कुमार शाही के खिलाफ शिकायत की है.

कॉन्स्टेबलों का कहना है कि बस में एक साथ बैठने को लेकर उन्होंने विरोध किया, लेकिन विनय कुमार शाही ने उन्हें डांट फटकार कर चुप करा दिया और सभी 29 लोगों को एक साथ बस में भेज दिया. 29 पुलिसकर्मियों में से सबसे पहले जालौन के एक कॉन्स्टेबल कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. वहीं 18 मई को लिए गए सैंपल में फतेहपुर पुलिस लाइन के कुल 11 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

Related Posts