9 घंटे तक 100 फीट गहरे बोरवेल में फंसे रहने के बाद प्रदीप ने जीत ली जिंदगी की जंग

मथुरा के सीएमओ शेर सिंह ने कहा कि बच्चा पूरी तरह से ठीक है. वो किसी तरह की परेशानी महसूस नहीं कर रहा है. हालांकि एहतियात के तौर पर हमने उसको कुछ दवाएं दी हैं.

मथुरा: यूपी के मथुरा जिले के एक गांव में शनिवार को बोरवेल में गिरे पांच साल के बच्चे प्रदीप को सुरक्षित वापस निकाल लिया गया है. 100 फीट गहरे बोरवेल से बाहर निकाले गए इस बच्चे की हालत पूरी तरह से ठीक बताई जा रही है.

एनडीआरएफ के सहायक कमांडर अनिल कुमार सिंह ने बताया, “बोरवेल से बच्चे को सुरक्षित वापस निकालने में 2 घंटे का समय लगा. इस रेस्क्यू ऑपरेशन में सेना के जवानों ने भी हमारी मदद की.”

मथुरा के सीएमओ शेर सिंह ने कहा, “बच्चा पूरी तरह से ठीक है. वो किसी तरह की परेशानी महसूस नहीं कर रहा है. हालांकि एहतियात के तौर पर हमने उसको कुछ दवाएं दी हैं. वो आज रातभर देखरेख के लिए भर्ती ही रहेगा. इसके बाद सुबह में उसे छोड़ दिया जाएगा.”


बता दें कि इस बच्चे का नाम प्रदीप है. ये मथुरा के अगरियाला गांव में रहने वाले स्थानीय निवासी दयाराम का बेटा है. प्रदीप बच्चों के साथ खेलते समय शनिवार को बोरवेल में गिर गया था. इसके बाद इस घटना की जानकारी शेरगढ़ पुलिस स्टेशन में दी गई थी.

बुलाई गई NDRF और सेना
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और फायर डिपार्टमेंट के लोग तुरंत मौके पर पहुंच गए थे. और बच्चे को बोरवेल से बाहर निकालने की कवायद शुरू कर दी थी. कुछ समय बाद ही रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए एनडीआरएफ और भारतीय सेना को बुला लिया गया था.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बच्चे को ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए बोरवेल में ऑक्सीजन पाइप डाले गए थे. साथ ही बच्चे को स्वस्थ्य रखने के लिए कुछ खाद्य और पेय पदार्थ भी दिए गए थे.