शारीरिक शोषण करने वालों के खिलाफ तुरंत जांच बैठाए सरकार : अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश के कानपुर संवासनी गृह (Kanpur Shelter Home) में सात किशोरियां गर्भवती पायी गयी हैं. जिनमें से 5 कोरोना (Corona) संक्रमित हैं, दो की रिपोर्ट निगेटिव है.
Akhilesh Yadav asked action in kanpur shelter home case, शारीरिक शोषण करने वालों के खिलाफ तुरंत जांच बैठाए सरकार : अखिलेश यादव

कानपुर (Kanpur) के राजकीय महिला संवासिनी गृह की घटना पर उत्तर प्रदेश की राजनीति गरमा रही है. कोरोना (Corona) संक्रमित 57 बालिकाओं में 7 के गर्भवती पाए जाने को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सोशल मीडिया पर सरकार से शारीरिक शोषण करने वालों के खिलाफ तुरंत जांच की मांग उठाई है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

अखिलेश यादव ने टिवटर पर लिखा, “कानपुर के सरकारी बाल संरक्षण गृह से आई खबर से उत्तर प्रदेश में आक्रोश फैल गया है. कुछ नाबालिग लड़कियों के गर्भवती होने का गंभीर खुलासा हुआ है. इनमें 57 कोरोना से और एक एड्स से संक्रमित भी पाई गयी है, इनका तुरंत इलाज हो. सरकार शारीरिक शोषण करने वालों के खिलाफ तुरंत जांच बैठाए.”

कानपुर संवासनी गृह में सात किशोरियां गर्भवती पायी गयी हैं

ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश के कानपुर संवासनी गृह में सात किशोरियां गर्भवती पायी गयी हैं. जिनमें से 5 कोरोना संक्रमित हैं. दो की रिपोर्ट निगेटिव है. जिलाधिकारी ब्रम्हदेव तिवारी ने बताया कि युवतियां यहां लाने से पहले ही गर्भवती थीं. उन्होंने बताया, “इस संरक्षण गृह में 57 लोगों की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव पाई गई है. इस जांच में 7 बालिकाएं गर्भवती पाई गई, जिसमें 5 कोरोना पॉजिटिव हैं  और 2 की रिपोर्ट निगेटिव आई है.”

उन्होंने बताया, “जिन पांच बालिकाओं की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वे सभी पॉस्को एक्ट के तहत जनपद आगरा, एटा, कन्नौज, फिरोजाबाद और कानपुर के बाल कल्याण समिति से रेफ़र करने के बाद यहां रह रही थीं. ये सातों बालिकाएं यहां आने के समय से ही गर्भवती थीं. पॉजिटिव बालिकाओं में से 2 बलिकाओं को एलएलआर में और 3 को रामा मेडिकल कॉलेज में कोविड प्रोटोकाल के अनुसार इलाज के लिए भर्ती कराया गया है.”

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts