‘खुद को राष्ट्रवादी बताने वाली BJP, सैनिक से डर गई,’ तेज बहादुर का नामांकन रद्द होने पर बोले अखिलेश

समाजवादी पार्टी के प्रमुख ने कहा कि अगर बीजेपी राष्ट्रवाद के नाम पर वोट मांग सकती है तो एक जवान का सामना करने में उसे क्यों तकलीफ हो रही है?

लखनऊ: वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ समाजवादी पार्टी की ओर से ताल ठोक रहे बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द होने के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला बोला है. अखिलेश यादव ने बीजेपी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि खुद को राष्ट्रवादी बताने वाली पार्टी एक जवान को भी बर्दाश्त नहीं कर सकती.

समाजवादी पार्टी के प्रमुख ने कहा कि अगर बीजेपी राष्ट्रवाद के नाम पर वोट मांग सकती है तो एक जवान का सामना करने में उसे क्यों तकलीफ हो रही है? इसी के साथ उन्होंने कहा कि बीजेपी अगर इतनी ही देशभक्त है तो उसे एक जवान का सामना चुनाव में करना चाहिए था.

उन्होंने कहा, बीजेपी को तेज बहादुर के खिलाफ चुनाव लड़ने से डर लग रहा है क्योंकि वह जानते हैं कि तेज बहादुर काफी कठिन सवाल पूछते हैं. वो पूछते हैं कि देश के जवानों के लिए बुलेट ट्रेन ज्यादा जरूरी है या बुलेट प्रूफ जैकेट.” मालूम हो कि तेज बहादुर को बीएसएफ से निकाले जाने का दस्तावेज नहीं उपलब्ध करा पाने के चलते उनका नामांकन रद्द कर दिया गया.

इसपर समाजवादी पार्टी प्रमुख ने कहा कि तेज बहादुर की सिर्फ यह गलती थी कि उन्होंने सेना में मिल रहे खाने की गुणवत्ता पर सवाल पूछे थे. बस इतनी सी बात पर ही बीजेपी की सरकार ने उन्हें बीएसएफ से निकाल दिया. इसी का साथ अखिलेश यादव ने कहा कि वाराणसी की जनता ऐसी मानसिकता वाले लोगों को समर्थन नहीं देने वाली.

ये भी पढ़ें: बाबरी वाले बयान पर मुश्किल में प्रज्ञा ठाकुर, दिग्विजय बोले- रद्द करो नामांकन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *