यूपी के बजट पर बोले अखिलेश यादव: प्रदेश को इस बजट से कोई आशा नहीं

अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही थी, लेकिन आय में एक फीसदी का इजाफा भी नहीं हुआ.
Akhilesh Yadav on UP's budget, यूपी के बजट पर बोले अखिलेश यादव: प्रदेश को इस बजट से कोई आशा नहीं

यूपी की योगी सरकार ने मंगलवार को अपना चौथा बजट पेश किया है. यह बजट 5.12 लाख करोड़ का है. बजट पर पूर्व मुख्यमंत्री और सपा नेता अखिलेश यादव ने कहा कि इस बजट से प्रदेश को कोई आशा नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही थी, लेकिन आय में एक फीसदी का इजाफा भी नहीं हुआ.

उन्होंने कहा कि सरकार ने बताया कि पहले बजट में किसानों पर, दूसरे बजट में औद्योगिक क्षेत्र पर, तीसरे में महिला कल्याण और चौथा में चिकित्सा और ऊर्जा संसाधन पर जोर दिया गया है. जबकि सच यह है कि इस बजट से कोई आशा ही नहीं है.

‘गंगा-यमुना के लिए बीजेपी की नीयत साफ नहीं’

अखिलेश ने गंगा यमुना की सफाई का जिक्र करते हुए कहा कि बजट में गंगा और यमुना का जिक्र है, लेकिन दोनों नदियां कितनी साफ हुईं? जब तक बीजेपी की नीयत साफ नहीं होगी तब तक ये दोनों नदियां भी साफ नहीं होंगी. यादव ने आगे कहा कि पशुपालन विभाग के हाल बेहाल हैं, कुछ ऐसा ही हाल चिकित्सा शिक्षा विभाग का भी है.

‘यूपी में अब बोली और गोली का परसेप्शन’

कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले यूपी की चर्चा एक्सप्रेस वे और मेट्रो के लिए होती थी, लेकिन बीते 4 सालों में प्रदेश में बोली और गोली का परसेप्शन बना है. अब यूपी की पहचान स्पॉन्सर्ड हत्या, कस्टोडियल डेथ, किसानों की आत्महत्या और आंदोलन करने वालों पर गोलियां चलवाने से हो रही है.

बीजेपी ने कानून-व्यवस्था को लेकर बहुत वादे किए थे. अब सरकार बताए कि प्रदेश में कितने थाने बने? कितनी पुलिस लाइन बनाई गईं? डायल 100 के लिए कितनी गाड़ियां बढ़ाई गईं? सरकार ने इस पर कुछ बताया ही नहीं.

ये भी पढ़ें:

योगी सरकार ने पेश किया 5.12 लाख करोड़ रुपये का बजट, प्‍वॉइंटर्स में देखें किसे क्या?

Related Posts