आगरा: बस ड्राइवर की झपकी ने ली 29 लोगों की जान, CM ने 24 घंटे में मांगी रिपोर्ट

यमुना एक्सप्रेस वे पर करीब दो-तीन किलोमीटर चलते ही चालक को झपकी लग गई.

आगरा: यमुना एक्‍सप्रेस वे पर सोमवार सुबह लापरवाही के चलते भीषण हादसा हो गया. घटना उत्तर प्रदेश में आगरा के एत्मादपुर के पास हुई. एक बस के 30 फुट गहरे झरना नाले में गिरने से उसमें सवार 29 लोगों की मौत हो गई, जबकि एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये.

आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) बबलू कुमार ने बताया कि लखनऊ से दिल्ली जा रही स्‍लीपर बस यमुना एक्सप्रेसवे पर रेलिंग तोड़ते हुए नाले में जा गिरी. इस हादसे में अभी तक एक बच्ची समेत 29 लोगों की मौत हो गई है, जबकि दर्जन भर से अधिक लोग घायल हो गये हैं. घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है. आगरा के जिलाधिकारी एनजी रवि कुमार ने बताया कि 29 शवों को निकाला जा चुका है. उन्होंने बताया कि नाले में पानी होने की वजह से मरने वालों की संख्या ज्यादा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर शोक व्‍यक्‍त किया है. उन्‍होंने ट्वीट कर मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं जाहिर दी. उन्‍होंने घायलों के जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुर्घटना पर दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है.

हादसे का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले की जांच के लिए कमेटी गठित कर 24 घंटे में रिपोर्ट तलब की है. मुख्यमंत्री ने परिवहन आयुक्त की अध्यक्षता में मंडलायुक्त और आईजी रेंज की तीन सदस्यीय समिति को जांच कर हादसे के कारणों का पता लगाने और अपनी रिपोर्ट 24 घंटे में सौंपने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने हादसे पर दु:ख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा के साथ जिलाधिकारी और एएसपी को समुचित इलाज कराने के निर्देश दिए हैं.

आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा, “परिवहन आयुक्त की अध्यक्षता में मंडलायुक्त और आईजी आगरा की तीन सदस्यीय समिति आगरा की बस दुर्घटना की जांच कर अगले 24 घंटे में रिपोर्ट देगी, जिसमें घटना की मूल वजह के साथ ही समिति की सिफारिशें भी शामिल होंगी ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए ठोस कार्ययोजना बन सके.” मुख्यमंत्री योगी ने अधिकारियों को राहत-बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं.

पढ़ें: “घर बेचकर बेदखल करना चाहते हैं बेटा-बहू, मदद कीजिए!”, बुजुर्ग दंपति का Video वायरल

दुर्घटना पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गहरा दुख व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि वे इस दुख की घड़ी में शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. अखिलेश यादव ने सरकार से मुआवजा राशि बढ़ाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि सरकार को मृतकों के परिजनों को 50-50 लाख रुपए की मुआवजा राशि देनी चाहिए. साथ ही उन्होंने पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग भी की.

जानकारी के मुताबिक डबल डेकर यात्री बस लखनऊ से दिल्ली आ रही थी. रास्ते में अचानक ही बस पुल से नीचे ‘झरना नाले’ में गिर गई. इस बस में कुल 50 यात्री सवार बताए जा रहे हैं. हालांकि अब तक घटना के सही कारणों का पता नहीं चला है लेकिन माना जा रहा है कि सुबह का वक़्त होने की वजह से ड्राइवर को झपकी आ गई हो और चूंकी बस की रफ़्तार तेज़ थी इसलिए वो नाले में गिर गई.

यह घटना सुबह 4.30 बजे की बताई जा रही है. घायल लोगों में से कुछेक यात्री की हालत नाज़ुक बताई जा रही है. राहत-बचाव दल वहां पहुंचकर लगातार लोगों को निकालने का काम कर रहा है. फ़िलहाल घायल लोगों को आगरा के नज़दीकी अस्पताल ले जाया जा रहा है.

एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश परिवहन की अवध डिपो की बस रविवार रात आलमबाग बस स्टैंड से सवारियां लेकर दिल्ली के लिए निकली थी. लखनऊ एक्सप्रेस वे और इनर रिंग रोड होते हुए तड़के 3:30 बजे करीब बस यमुना एक्सप्रेस वे पर पहुंच गई, जिस पर करीब दो-तीन किलोमीटर चलते ही चालक को झपकी लग गई, जिससे बस अनियंत्रित होकर यमुना एक्सप्रेस वे से 30 फुट गहराई में झरना नाले में जाकर गिर पड़ी.

हादसे के समय अधिकतर सवारियां सो रहीं थी. इसलिए किसी को चीखने का भी मौका ना मिला. वहीं पास स्थित गांव के एक व्यक्ति ने हादसे के समय धमाके जैसी जोर की आवाज सुनी तो उसने दौड़कर अन्य ग्रामीणों को बताया, जिसके बाद भारी संख्या में ग्रामीणों ने पहुंचकर बचाव कार्य शुरू कर दिया.

उनके अनुसार, बस में से करीब 18 से 20 लोगों को निकालकर बाहर लेटाया गया. तब तक पुलिस पहुंच गई. इसके बाद इनको एंबुलेंस से अस्पताल भेजा. हादसे के लगभग दो घंटे बाद जेसीबी और क्रेन ने मौके पर पहुंच बस को सीधा किया जिससे बस में फंसे लोगों को निकाला गया, जिनकी सभी की मौत हो चुकी थी.

(IANS इनपुट्स सहित)

ये भी पढ़ें

VIDEO: मुस्लिम महिला ने ज्वाइन की BJP तो मकान मालिक ने घर से निकालने की दी धमकी