अयोध्या तीर्थ विकास परिषद का गठन करेगी यूपी सरकार, योगी आदित्यनाथ होंगे अध्यक्ष

इस परिषद का गठन अयोध्या के विकास के लिए किया जा रहा है. साथ ही अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य देखना भी परिषद की जिम्मेदारी होगी.
Ayodhya Teerth Vikas Parishad, अयोध्या तीर्थ विकास परिषद का गठन करेगी यूपी सरकार, योगी आदित्यनाथ होंगे अध्यक्ष

उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के गठन के बाद अब अयोध्या तीर्थ विकास परिषद के गठन का फैसला किया है. सरकार के पास परिषद बनाने का प्रस्ताव भेजा गया है.

मंगलवार को होने वाली कैबिनेट में इस प्रस्ताव को कैबिनेट में रखा जा सकता है. माना जा रहा है कि इस प्रस्ताव को हरी झंडी मिल जाएगी. 5 सदस्यीय अयोध्या तीर्थ विकास परिषद  के अध्यक्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ होंगे.

इस परिषद का गठन अयोध्या के विकास के लिए किया जा रहा है. साथ ही अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य देखना भी इस परिषद की जिम्मेदारी होगी. कहा जा रहा है कि इस परिषद का फोकस स्मार्ट और नव्य अयोध्या बनाने पर होगा. इसके लिए 250 करोड़ रुपये का राशि तय की गई है.

अयोध्या तीर्थ विकास परिषद राज्य और केन्द्र के साथ मिलकर अयोध्या के विकास पर फैसले लेगी. राम मंदिर के लिए अयोध्या में आधारभूत ढांचा तैयार कराने की जिम्मेदारी भी परिषद को सौंपी गई है.

दूसरी तरफ, रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की पहली बैठक 19 फरवरी को होगी. यह बैठक ट्रस्ट के दिल्ली ऑफिस और के. परासरण के निवास स्थान पर होगी. बैठक शाम 5. 00 बजे बुलाई गई है.

बैठक के एजेंडे में ट्रस्ट के अध्यक्ष, महामंत्री और कोषाध्यक्ष का चुनाव और इसके अतिरिक्त ट्रस्ट में नामांकन के लिए दो सदस्यों का चुनाव बहुमत के आधार पर होगा. राम मंदिर का निर्माण 2 अप्रैल (रामनवमी के दिन) या फिर 26 अप्रैल (अक्षय तृतीया) के दिन शुरू किया जा सकता है.

सूत्रों के मुताबिक, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का कार्य इस साल रामनवमी या अक्षय तृतीया से शुरू हो सकता है. हालांकि इस मामले में अंतिम फैसला ट्रस्ट की पहली बैठक में लिया जाएगा.

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने ट्रस्ट का एलान कर दिया था. ट्रस्ट की घोषणा के बाद ट्रस्टियों के नाम भी घोषित कर दिए गए थे. अध्यक्ष का नाम अभी तय नहीं हुआ है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में 15 ट्रस्टी होंगे, जिसमें से एक ट्रस्टी हमेशा दलित समाज से रहेगा.

ये भी पढ़ें-

शाहीन बाग में मासूम की मौत पर SC सख्त, पूछा- 4 महीने का बच्चा प्रदर्शन करने कैसे जा सकता है?

CAA के विरोध में जामिया छात्रों का संसद मार्च, सुरक्षाबलों ने होली फैमिली हॉस्पिटल के पास रोका

JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गाड़ी पर युवकों ने फेंका अंडा

Related Posts