Video:स्‍मृति ईरानी, नरेंद्र मोदी के दावे से एकदम उलट है Amethi में मरीज की मौत का सच

आयुष्‍मान कार्ड दिखाने पर मोदी-योगी की योजना बताकर मरीज को एडमिट करने से इनकार के पीएम नरेंद्र मोदी और स्‍मृति ईरानी के दावे का सच एकदम उलट है. पढ़ें, अमेठी में मरीज की मौत का सच तलाशती टीवी9भारतवर्ष की खास रिपोर्ट.

अमेठी: अमेठी में 2019 लोकसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान से ऐन पहले एक शख्‍स की मौत का मुद्दा गरमा गया. मामला इतना तूल पकड़ गया कि पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर स्‍मृति ईरानी तक ने सीधे कांग्रेस पर हमला बोल दिया.

पीएम मोदी और स्‍मृति ईरानी के अलावा मरीज के परिजनों ने भी सामने आकर अस्‍पताल पर आरोप लगाए. आरोपों के मुताबिक, मरीज नन्‍हें लाल मिश्रा को संजय गांधी अस्‍पताल ने भर्ती करने से इनकार कर दिया. परिजनों ने दावा किया कि अस्‍पताल ने आयुष्‍मान भारत को मोदी-योगी की योजना बताकर नन्‍हें लाल मिश्रा को एडमिट करने से मना करते हुए कहा कि यहां राहुल गांधी की योजना चलती है.

यह मामला देशभर के मीडिया की सुर्खियों में छा गया, लेकिन इसका सच एकदम उलट निकला. टीवी9भारतवर्ष ने जब इस मुद्दे की पड़ताल की तो पता चला कि नन्‍हें लाल मिश्रा को अस्‍पताल ने 25 अप्रैल को एडमिट किया था. वह शराब पीने के आदी थे और इस वजह से ही उन्‍हें अस्‍पताल लाया गया.

अस्‍पताल ने मरीज को एडमिट किया, उस वक्‍त परिजन आयुष्‍मान कार्ड लाना भूल गए थे. अगले दिन मरीज की मौत हो गई और तब परिजन आयुष्‍मान कार्ड लेकर पहुंचे, जिस पर अस्‍पताल ने कहा कि बैक डेट में वह मरीज की भर्ती नहीं दिखा सकते.

अस्‍पताल ने न केवल मरीज को एडमिट किए जाने के दस्‍तावेज दिखाए बल्कि उसका डेथ सर्टिफिकेट भी दिखाया.