झूठा निकला आजम खान का दावा, जौहर यूनिवर्सिटी ने कहा- हमारी नहीं है वो जमीन

पत्र में कहा गया है कि पुलिस ने जिस जमीन के बारे में जानकारी मांगी है वह यूनिवर्सिटी के नाम पर नहीं है.

नई दिल्ली: सपा सांसद आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी ने जमीन कब्‍जाने के मामले में पुलिस की नोटिस का जवाब दिया है. इसमें कहा गया है कि पुलिस ने जिस जमीन के बारे में जानकारी मांगी है वह यूनिवर्सिटी के नाम पर नहीं है. यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर ने पत्र लिखकर यह बात कही है. वहीं, आजम खान ने दावा किया था कि यह जमीन उन्होंने चेक से खरीदी है.

यूनिवर्सिटी की ओर भेजे गए पत्र में कहा गया है कि जौहर ट्रस्ट के पास इस बारे में अधिक जानकारी हो सकती है. ऐसे में अब जौहर ट्रस्ट को नोटिस जारी हो सकता है. मालूम हो कि राजस्व विभाग से जमीनों की पूरी जानकारी लेने के बाद पुलिस ने जौहर यूनिवर्सिटी से जमीनों का पूरा रिकॉर्ड मांगा था. इसके लिए जमीन की गाटा संख्या के अनुसार जानकारी मांगी गई थी.

Azam Khan, झूठा निकला आजम खान का दावा, जौहर यूनिवर्सिटी ने कहा- हमारी नहीं है वो जमीन

आजम खां भूमाफिया घोषित 
बता दें कि जौहर यूनिवर्सिटी के लिए किसानों की जमीनें कब्जाने के आरोप में फंसे आजम खां को प्रशासन ने कुछ दिनों पहले भूमाफिया घोषित कर दिया था. जिला अधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया था कि शासनादेश के मुताबिक ऐसे लोगों को भूमाफिया घोषित किया जाता है जो दबंगई से जमीनों पर कब्जा करने के आदी हैं. जो लोग अवैध कब्जे को छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं और जिनके खिलाफ पुलिस में केस दर्ज है उनका ही नाम उत्तर प्रदेश एंटी भू माफिया पोर्टल पर दर्ज कराया जाता है.

उप जिला अधिकारी की ओर से आजम का नाम उत्तर प्रदेश एंटी भू माफिया पोर्टल पर दर्ज कराया गया है. आजम खां के खिलाफ एक सप्ताह के दौरान जमीन कब्जाने के 13 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं. इनमें एक मुकदमा 12 जुलाई को प्रशासन की ओर से दर्ज कराया गया, जिसमें कहा गया है कि आलिया गंज के 26 किसानों ने जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है.

ये भी पढ़ें-

उन्नाव केस की दिल्ली में सुनवाई शुरू, कोर्ट का आदेश- सोमवार को पेश हों आरोपी विधायक सेंगर

उन्नाव केस में CBI ने आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर से की 10 घंटे पूछताछ, कई सवालों पर साधे रहे चुप्पी

बिहार में बाढ़ की तबाही पर नीतीश के मंत्री ने दिया संवेदनहीन बयान, बोले- मौत तो स्वाभाविक चीज है