जलती चिता से शव निकालकर खाता था मांस, इसलिए फावड़े से मार डाला

आरोपी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले बाबा ने चिता से उसकी बहन का अधजला शव निकालकर उसका मांस खा गया था.
Baba eat dead body In Moradabad, जलती चिता से शव निकालकर खाता था मांस, इसलिए फावड़े से मार डाला

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में दिवाली की रात श्मशान घाट की देखरेख करने वाले बाबा और एक शख्स की हत्या कर दी गई थी. मामले की जांच में जुटी पुलिस ने एक हैरान कर देने वाला खुलासा किया है. पुलिस ने हत्या के आरोपी और उसके साथी को गिरफ्तार किया है. आरोपी ने पुलिस को बताया कि बाबा चिता से शव निकालकर खा जाता था.

‘अधजला शव निकालकर उसका मांस खा गया’
पूछताछ में आरोपी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले बाबा ने चिता से उसकी बहन का अधजला शव निकालकर उसका मांस खा गया था. इसीलिए उसने बाबा और उसके चेले का कत्ल कर दिया. दूसरे लोगों ने भी दावा किया है कि बाबा ने उनके परिजनों के शवों से मांस खाया. बाबा शवों को पूरी तरह से जलने से पहले ही चिता बुझा देता था और उनका मांस निकाल लेता था.

एसपी देहात उदयशंकर सिंह ने बताया कि ठाकुरद्वारा के कौशल्या नगर निवासी अंकुश यादव की बहन अंशु की 12 अगस्त को मौत हो गई थी. श्मशान घाट पर उसका अंतिम संस्कार किया गया था. विधि-विधान होने के बाद सभी लोग चले गए. शाम को पिता वीरेंद्र चिता देखने श्मशान घाट पहुंचे तो चिता पर अधजला शव पड़ा था और शरीर के कुछ हिस्सों का मांस गायब था.

तंत्र विद्या के लिए बाबा ने शव का मांस खाया
एसपी सिंह ने बताया कि वीरेंद्र ने मोबाइल से इसकी फोटो खींची और घर आकर अंकुश को दिखाई. इस पर जब अंकुश ने श्मशान पर रहने वाले बाबा राजेंद्र गिरी से पूछताछ की तो उसने नशे में मान लिया कि उसने ही तंत्र विद्या के लिए उसकी बहन के शव से मांस खाया है. यह सुनकर अंकुश को बहुत गुस्सा आया. उसने अपने दोस्त बंटी के साथ बाबा और उसके चेले नीतेश की सिर कुचलकर हत्या कर दी.

ये भी पढ़ें-

ईस्टर्न-वेस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे को लेकर बढ़ा विवाद, केजरीवाल सरकार ने धन देने से किया इनकार

तेलंगाना में डेंगू का कहर, एक ही परिवार के चार लोगों की मौत, दहशत में लोग

राहुल गांधी बार-बार क्यों जाते हैं विदेश, अपनी गुप्त यात्राओं का दें ब्यौरा: BJP

Related Posts