UP STF से मुठभेड़ में मोस्ट वांडेट राकेश पांडे ढेर, 2005 में BJP MLA कृष्णानंद राय की हत्या का आरोप

29 नवंबर, 2005 को छह अन्य लोगों के साथ बीजेपी (BJP) नेता कृष्णानंद राय (Krishnananda Rai) की भी हत्या कर दी गई थी. कृष्णनंद राय मोहम्मदाबाद निर्वाचन क्षेत्र से विधायक थे.
accused rakesh shot dead by UP STF, UP STF से मुठभेड़ में मोस्ट वांडेट राकेश पांडे ढेर, 2005 में BJP MLA कृष्णानंद राय की हत्या का आरोप

उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स (UP Special Task Force) ने मोस्ट वांटेड क्रिमिनल राकेश पांडे (Most Wanted Rakesh Pandey) को मुठभेड़ में मार गिराया है. राकेश पांडे साल 2005 में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता कृष्णानंद राय (Krishnananda Rai) की हत्या का आरोपी था.

राकेश पांडे पर एक लाख रुपये का इनाम था

रविवार को एसटीएफ के आईजीपी अमिताभ यश (Amitabh Yash) ने बताया कि लखनऊ में सरोजिनी नगर पुलिस थाने के पास एनकाउंटर में राकेश पांडे को मार गिराया गया है. यूपी के मऊ के रहने वाले राकेश पांडे उर्फ हनुमान पांडे पर एक लाख रुपये का इनाम था. पांडे कई जघन्य अपराधों का आरोपी था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

29 नवंबर, 2005 को छह अन्य लोगों के साथ बीजेपी (BJP) नेता कृष्णानंद राय की भी हत्या कर दी गई थी. कृष्णनंद राय मोहम्मदाबाद निर्वाचन क्षेत्र से विधायक थे. पहले केस की जांच यूपी पुलिस (UP Police) कर रही थी, लेकिन बाद में यह केस सीबीआई (CBI) को ट्रांसफर कर दिया गया था.

मुख्तार अंसारी को बरी करने का अलका ने किया था विरोध

कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय की याचिका के बाद साल 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने केस को गाजीपुर से दिल्ली ट्रांसफर कर दिया था. इस केस में गैंगस्टर से राजनेता बने मुख्तार अंसारी का भी नाम शामिल था. हालांकि अंसारी पर आरोप साबित नहीं हुए और उन्हें बरी कर दिया गया.

इसके बाद पिछले साल अक्टूबर में, अलका राय ने मुख्तार अंसारी और अन्य को बरी करने के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. सीबीआई अदालत ने सभी आरोपियों को बरी करते हुए कहा था कि यह एक गंभीर मामला था, जिसमें सात लोगों की हत्या की गई. मुकदमे के दौरान चश्मदीद गवाह और अन्य गवाह मुकर गए थे.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts