अमेठी पहुंचीं स्मृति ईरानी, BJP कार्यकर्ता की अर्थी को दिया कंधा

अज्ञात बदमाशों ने सुरेंद्र सिंह को उनके घर पर गोली मारी. इसके बाद ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में ही उनकी मौत हो गई.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अमेठी में भारतीय जनता पार्टी के एक कार्यकर्ता की शनिवार देर रात हत्या कर दी गई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीजेपी की जीत की खुशी मनाने पर कार्यकर्ता की हत्या की गई है. हालांकि हत्या की वजह को लेकर संशय अभी भी बना हुआ है. मृतक सुरेंद्र सिंह अमेठी में जामो ब्लाक के बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान थे. सुरेंद्र सिंह के परिवारवालों ने एफआईआर में पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरु कर दी है. दो अन्य लोगों के तलाश की जा रही है.

अज्ञात बदमाशों ने सुरेंद्र सिंह को उनके घर पर गोली मारी. इसके बाद ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में ही उनकी मौत हो गई. सुरेंद्र ने स्मृति ईरानी की जीत के बाद अपने घर पर एक दावत रखी थी. बताया जा रहा है कि दावत के बाद बदमाशों ने उन्हें गोली मारी. अमेठी के अपर पुलिस अधीक्षक दया राम ने जानकारी दी है कि बाइक सवार बदामशों ने घर के बाहर सो रहे सुरेंद्र सिंह पर ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दी.

स्मृति पहुंचीं सुरेंद्र के घर 
स्मृति ईरानी मृतक सुरेंद्र सिंह के घर पहुंच चुकी हैं. उन्होंने सुरेंद्र की अर्थी को कंधा दिया है. साथ ही उन्होंने परिवार के लोगों का ढांढस बढ़ाया है. स्मृति ने कहा कि परिवार को न्याय मिलेगा. हत्या के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. पुलिस टीम जांच जुटी है और जल्द नतीजा हमारे सामने होगा.

BJP, अमेठी पहुंचीं स्मृति ईरानी, BJP कार्यकर्ता की अर्थी को दिया कंधा
मृतक सुरेंद्र सिंह अमेठी में जामो ब्लाक के बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान थे.

यूपी के डीजीपी का बयान
यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, “हमें घटना के अहम सुराग मिले हैं. 7 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. हमें विश्वास है कि अगले 12 घंटे में केस की गुत्थी सुलझा ली जाएगी. पीएसी की तीन कंपनियां तैनात की गई हैं. कानून व्यवस्था का कोई मुद्दा नहीं है.”

मृतक के परिवार वालों से मिलेंगी स्मृति
इस बीच स्मृति ईरानी अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के लिए रवाना हो गई हैं. स्मृति अमेठी में मृतक सुरेंद्र सिंह के परिवार वालों से मुलाकात करेंगी.

सुरेंद्र सिंह की हत्या पर उनके बेटे ने मीडिया से बातचीत की है. उन्होंने कहा कि ‘मेरे पिता स्मृति ईरानी के बेहद करीबी थे और उनके लिए दिन-रात प्रचार किया करते थे. स्मृति के सांसद बनने के बाद अमेठी में विजय यात्रा निकाली गई थी. मुझे लगता है कि कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं को यह पसंद नहीं आया. हमें हत्या को लेकर कुछ लोगों पर संदेह है.’

भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती
सुरेंद्र सिंह की हत्या के बाद उनके गांव बरौलिया में काफी कोहराम मचा हुआ है. बरौलिया का माहौल बेहद तनावपूर्ण हो गया है. इसे देखते हुए आसपास के इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है.

टीवी9 भारतवर्ष के संवाददाता ने बताया है कि पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है. पुलिस ने इसे लेकर कई लोगों से पूछताछ की है. साथ ही हत्या की वजह पता लगाने की भी कोशिश की जा रही है. शुरुआती तौर पर इसे चुनावी रंजिश से जुड़ा मामला ही माना जा रहा है.

इस बीच अमेठी के एसपी का बयान आया है. उन्होंने कहा, “सुरेंद्र सिंह को शनिवार रात करीब 3 बजे गोली मारी गई. कुछ संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया है और जांच जारी है. ये कोई पुराना या चुनावी रंजिश से जुड़ा मामला हो सकता है.”

स्मृति के चुनाव प्रचार में रहे शामिल
सुरेंद्र सिंह को स्मृति ईरानी का काफी करीबी बताया जाता है. अमेठी में स्मृति ईरानी के चुनाव प्रचार में सुरेंद्र शामिल कई बार शामिल हो चुके हैं. बताया जाता है कि सुरेंद्र सिंह का अमेठी के कई गांवों में अच्छा-खासा प्रभाव था.

पुलिस ने तीन नामजद लोगों को लिया हिरासत में
पूर्व प्रधान सुरेन्द्र सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में ले लिया है. परिजनों ने हत्या में शामिल 5 नामजद लोगों की तहरीर दी थी. पांच नामजद लोगों में से तीन को पुलिस ने हिरासत में लिया. दो और लोगों की तलाश में पुलिस की टीमें दबिश दे रही है. नसीम, धर्मनाथ गुप्ता और रामचंद्र बीडीसी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरु की गई है. वसीम और गोलू अभी भी फरार चल रहे हैं.

ये भी पढ़ें-
जरूरत पड़ी तो समुद्र में डुबो देंगे अमेरिकी जहाज, ईरान ने दी चेतावनी

पश्चिम बंगाल में बीजेपी ने सांप्रदायिक जहर फैलाकर हासिल की जीत: ममता बनर्जी