दुबले-पतले ही नहीं जिम जाकर बॉडी बनाने वाले भी टीबी के शिकार, स्टेरॉइड लेने वाले होशियार!

उन दवाई से राहुल को कोई आराम नहीं हुआ और वह फिर से डॉक्टर के पास जा पहुंचा.

आज लड़कों में बॉडी बनाने का इतना जुनून सवार है कि वे बॉडी बनाने के लिए स्टेरॉइड की इतनी ज्यादा मात्रा लेने लगे हैं कि वह उनके शरीर को ही नुकसान पहुंचा रही हैं. ऐसा ही कुछ नोएडा में एक शख्स के साथ देखने को मिला.

इस शख्स का नाम राहुल है, जिसने ट्रेनर के कहने पर स्टेरॉइड लेना शुरू किया था, पर उसे नहीं पता था कि ऐसा करना उसके लिए घातक बन जाएगा. दो महीने पहले ही राहुल ने स्टेरॉइड लेने के एक महीने बाद राहुल को सांस लेने में दिक्क्त होने लगी. उसने डॉक्टर को दिखाया तो राहुल को दवाई दे दी गई. उन दवाई से राहुल को कोई आराम नहीं हुआ और वह फिर से डॉक्टर के पास जा पहुंचा.

इस बार डॉक्टर को संदेह हुआ कि शायद राहुल को टीबी हो सकती है. राहुल के कुछ टेस्ट कराए गए, जिसमें डॉक्टर का संदेश एक दम सही निकला. दरअसल बेकार क्विलिटी की स्टेरॉइड के अधिक इस्तेमाल के कारण उसे टीबी हो गई थी.

ऐसा पहली बार नहीं है जब ऐसा कोई मामला सामने आया है. पहले भी ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं. एनबीटी की रिपोर्ट के अनुसार, कैलाश अस्पताल के सांस रोग विशेषज्ञ का कहना है कि हर महीने एवरेज 10 टीवी के केस आ रहे हैं.

पिछले महीने जो केस आए, वे काफी हैरान करने वाले थे. मरीज को देखकर लगता था कि वह सेहतमंद है, लेकिन टेस्ट कराने पर टीबी का पता चलता था. डॉक्टर्स का कहना है कि वैसे तो स्टेरॉइड के कारण टीबी नहीं होती है, लेकिन अगर वह बेकार क्वालिटी का हो तो टीबी होने के चांस बढ़ जाते हैं.

 

ये भी पढ़ें-   ‘इंफेक्‍शन खत्‍म कर देती हैं सूरज की किरणें’, कोर्ट की वीडियो रिकॉर्डिंग पर जस्टिस चंद्रचूड़ ने क्‍यों कहा ऐसा

सास के साथ लिव इन में रहता था दामाद, प्रॉस्‍टीट्यूशन नहीं छोड़ा तो मार डाला