कमलेश तिवारी हत्याकांड के दोनों मुख्य आरोपी गुजरात बॉर्डर से गिरफ्तार, देखें VIDEO

अशफाक हुसैन और पठाण मोइनुद्दीन अहेमद उर्फे फरीद दोनों ने मिलकर कमलेश तिवारी की हत्या की थी.

नई दिल्ली: कमलेश तिवारी हत्याकांड के दोनों मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. दोनों हत्यारों को गुजरात राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया है. गुजरात एटीएस ने दो और आऱोपीओ को गिरफ्तार किया. अशफाक हुसैन और पठाण मोइनुद्दीन अहमद उर्फे फरीद दोनों ने मिलकर कमलेश तिवारी की हत्या की थी. दोनों आरोपी पाकिस्तान भागने के फिराक में थे. वाघा बॉर्डर से 285 किलोमीटर दूर दोनों का अंतिम लोकेशन मिला था.

कमलेश तिवारी के हत्या कांड के मुख्य आरोपी इसके पहले पाकिस्तान और बाद में नेपाल निकलने की फ़िराक़ में थे. लेकिन मुस्तैदी के बाद ये कश्मीर और पाकिस्तान के निकलने की में थे. पैसे खत्म होने पर दोनों आरोपियों ने परिवार वालों से संपर्क किया था. सम्पर्क सूत्र मिलते ही गुजरात ATS ने दबोचा.

अशफ़ाक़ और मोइनुद्दीन को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया. दोनों परसों रात को नेपाल से शाहजहांपुर पहुंचे और वहां से गुजरात जाने की कोशिश में थे. पैसे ख़त्म होने की वजह से इन्होंने घर वालों से संपर्क साधा और उसी के आधार पर एटीएस को जानकारी मिली और आज गिरफ्तारी कर ली गई.

डीआईजी एटीएस गुजरात हिमांशु शुक्ता के नेतृत्व में बनी एक टीम ने सफलता पूर्वक फरार 34वर्षीय आरोपी अशफाक हुसैन और 27 मोइनुउद्दीन पठान को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों आरोपी सूरत के रहने वाले हैं. इन दोनों ने अपने परिवार वालों से संपर्क साधा था और टेक्निकल टीम ने इनको ट्रेस कर गिरफ्तार कर लिया है. शुरुआती पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने मृतक द्वारा दिए गए विवादित बयानों के कारण इस हत्या की घटना को अंजाम दिया.