यूपी में नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत बैलगाड़ी का काट दिया गया चालान

पुलिस बैलगाड़ी को हसन के घर लेकर गई और मोटर एक्ट के सेक्शन 81 के तहत 1,000 रुपये की चालान रसीद काट दी.

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले साहसपुर में एक बैलगाड़ी का नए मोटर ह्विकल एक्ट के तहत चालान काटने का मामला सामने आया है. पुलिस ने शनिवार को बैलगाड़ी के मालिक को चालान रसीद सौंपी. हालांकि, पुलिस ने बाद में ये चालान रद्द कर दी क्योंकि मोटर एक्ट में बैलगाड़ी की चालान काटने का कोई प्रावधान ही नहीं किया गया है.

खेत के पास खड़ी थी बैलगाड़ी
बैलगाड़ी के मालिक रियाज हसन ने शनिवार को अपने खेत में बैलगाड़ी को खड़ा किया था. इस दौरान सब-इंस्पेक्टर पंकज कुमार समेत एक पुलिस टीम इलाके की पेट्रोलिंग कर रही थी. पुलिस टीम ने देखा कि बैलगाड़ी पार्क की गई है लेकिन उसके आसपास कोई नहीं है.

पुलिस ने जब आसपास के लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि बैलगाड़ी रियाज हसन नाम के शख्स की है. इसके बाद पुलिस बैलगाड़ी को हसन के घर लेकर गई और मोटर एक्ट के सेक्शन 81 के तहत 1,000 रुपये की चालान रसीद काट दी.

इस पर हसन ने कहा, “मैंने अपनी बैलगाड़ी अपने खेत के पास खड़ी की थी. इस पर मेरा चालान कैसे काटा जा सकता है. उन्होंने मुझ पर मोटर एक्ट के तहत चालान क्यों काटा, ये तो एक बैलगाड़ी है.”

अवैध खनन की सूचना पर पेट्रोलिंग
साहसपुर पुलिस स्टेशन के इन-चार्ज पीडी भट्ट ने इस मामले पर कहा कि पुलिस को इलाके में बालू के अवैध खनन की सूचना मिली थी. इसके बाद एक पुलिस टीम इलाके की पेट्रोलिंग के लिए गई हुई थी.

भट्ट ने कहा, “गांव के ज्यादातर लोग खनन के बाद बचे बालू को अपनी बैलगाड़ी में भरकर ले जाते हैं. टीम को लगा कि इस बैलगाड़ी का इस्तेमाल इसी काम में किया जा रहा था. ”

उन्होंने कहा कि शाम को अंधेरा हो गया था. टीम मोटर एक्ट और अन्य अपराधों की बिल बुक्स में अंतर नहीं कर पाई. दोनों एक ही तरह लगते हैं. वो आईपीसी के तहत मामला दर्ज करना चाहते थे लेकिन मोटर एक्ट के तहत चालान काट दिया.

ये भी पढ़ें-

बिहारः मुजफ्फरपुर शेल्टर होम से छुड़ाई गई लड़की से चलती कार में गैंगरेप, 4 पर केस दर्ज

UP: पिता का दोस्त बना हैवान, 6 साल की मासूम बच्ची का रेप कर उतारा मौत के घाट

MP: तेज बारिश से रतलाम में बिगड़े हालात, पेड़ पर गिरी आसमानी बिजली, देखें वीडियो