UP: विधायक, पत्नी, बेटे के खिलाफ मकान में जबरन रहने, धमकाने का मामला दर्ज

विधायक विजय मिश्रा (MLA Vijay Mishra) ने इससे पहले लगातार तीन विधानसभा चुनावों में ज्ञानपुर सीट जीती थी, लेकिन 2017 के चुनावों में समाजवादी पार्टी (SP) ने उन्हें टिकट नहीं दिया था. मिश्रा के खिलाफ कथित तौर पर 71 आपराधिक मामले (Criminal Cases) दर्ज हैं.
vijay mishra mla up, UP: विधायक, पत्नी, बेटे के खिलाफ मकान में जबरन रहने, धमकाने का मामला दर्ज

उत्तर प्रदेश के भदोही जिले (Bhadohi, UP) के ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्रा (MLA Vijay Mishra), उनकी पत्नी रामलली मिश्रा और बेटे विष्णु मिश्रा के खिलाफ जिला पुलिस ने उनके रिश्तेदार की शिकायत पर संपत्ति पर कब्जा करने और धमकाने के आरोप में मामला दर्ज किया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

यह एक महीने के भीतर मिश्रा के खिलाफ दूसरी FIR है. 18 जुलाई को उनके खिलाफ औराई क्षेत्र में नेशनल हाईवे-2 पर लालानगर टोल प्लाजा पर टोल कलेक्ट करने वाले एक कर्मचारी को धमकी देने के लिए गुंडा एक्ट (Gunda Act) के तहत मामला दर्ज किया गया था.

विधायक के खिलाफ FIR, शिकायतकर्ता को सुरक्षा

भदोही के पुलिस अधीक्षक RB सिंह ने कहा, “शुक्रवार को विधायक के रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी की शिकायत पर गोपीगंज पुलिस ने IPC की धारा 325, 506, 347, 387 और 449 के तहत मिश्रा, उनकी MLC पत्नी और बेटे के खिलाफ मामला दर्ज किया है. शिकायतकर्ता की अपील पर, जिसने अपने जीवन के लिए खतरे का हवाला दिया, हमने उसे पुलिस सुरक्षा दी है.”

शिकायतकर्ता ने MLA पर लगाया यह आरोप

शिकायतकर्ता तिवारी ने पुलिस से शिकायत की कि वह भदोही जिले के गोपीगंज पुलिस स्टेशन क्षेत्राधिकार के तहत धनपुर इलाके में एक घर के मालिक हैं. उन्होंने आरोप लगाया, “विधायक मेरे घर में जबरन रह रहे हैं और अब वह मुझ पर इस बात का दबाव बना रहे हैं कि मैं उनके नाम पर संपत्ति दर्ज कर दूं. जब मैंने कागजात पर हस्ताक्षर करने से मना कर दिया तो मिश्रा, जिन्होंने मेरी फर्म पर भी कब्जा कर लिया है, ने मुझे इसका अंजाम भुगतने की धमकी दी है.”

MLA के खिलाफ दर्ज हैं 71 क्रिमिनल केस

SP ने कहा कि मिश्रा के खिलाफ गुंडा एक्ट का मामला जरूरी कार्रवाई के लिए जिला मजिस्ट्रेट की अदालत में है. राज्य के अलग-अलग जिलों में मिश्रा के खिलाफ कथित तौर पर 71 आपराधिक मामले दर्ज हैं. पुलिस सूत्रों ने कहा कि दस मामलों की सुनवाई एक विशेष MP/MLA अदालत में चल रही है.

विधायक विजय मिश्रा ने इससे पहले लगातार तीन विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) में ज्ञानपुर सीट जीती थी, लेकिन 2017 के चुनावों में समाजवादी पार्टी (SP) ने उन्हें टिकट नहीं दिया था. उन्होंने निषाद पार्टी (Nishad Party) के टिकट पर चुनाव लड़ा और दोबारा सीट जीती. उन्होंने 2012 का विधानसभा चुनाव जेल से लड़ा था.

MLA के बेटे ने किया यह दावा

इस बीच, पत्रकारों से बात करते हुए विधायक के बेटे विष्णु ने दावा किया कि जिस रिश्तेदार ने उनके खिलाफ शिकायत की थी, उसने उनके विधायक पिता से 32 करोड़ रुपये उधार लिए थे. उन्होंने कहा, “उन्होंने हमें 27 करोड़ रुपये के चेक दिए, जो बाउंस हो गए. हमारे पैसे वापस नहीं करने के लिए उन्होंने हमारे खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.” (IANS)

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts