उन्नाव केस में CBI ने आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर के 17 ठिकानों पर मारे ताबड़तोड़ छापे

सीबीआई के कई सवालों पर आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर चुप्पी साधे रहे. सीबीआई ने जांच का दायरा अब और भी बढ़ा दिया है.

नई दिल्ली: उन्नाव केस में सीबीआई ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से 10 घंटे तक पूछताछ की है. सीबीआई ने रेप पीड़िता के साथ हुए हादसे को लेकर पूछताछ की. सीबीआई ने सेंगर से यह भी जानना चाहा कि उनसे जेल में कौन-कौन लोग मिलने आए. सेंगर फिलहाल सीतापुर जेल में बंद हैं और उनसे ये पूछताछ वहीं पर की गई.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीबीआई के कई सवालों पर सेंगर चुप्पी साधे रहे. सीबीआई ने जेल के सीसीटीवी सिस्टम को भी जांच के दायर में लिया है. बताया गया कि तीन सीसीटीवी कैमरे खराब मिले. सीबीआई ने इसे लेकर नाराजगी भी जताई. सीबीआई की ओर से संदिग्ध फोन कॉल की जानकारी भी ली गई है.

साथ ही लखनऊ जेल में बंद सेंगर के भाई अतुल सिंह से भी लंबी पूछताछ हुई. उन्नाव में भी जांच-पड़ताल की जा रही है. उन्नाव में सीबीआई घायल वकील के घर भी गई और माखी थाने पहुंचकर भी छानबीन की गई. उधर, फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर फिर साक्ष्य जुटाए. सेंगर के सहयोगियों पर भी सीबीआई की नजर है. सीबीआई ने सेंगर के घर समेत कुल 17 ठिकानों पर छापेमारी की.

ट्रक मालिक से CBI ने की पूछताछ
ट्रक मालिक देवेंद्र किशोर पाल रविवार को सीबीआई दफ्तर पहुंचे हैं. सीबीआई ने उन्हें पूछताछ के लिए तलब किया है. सीबीआई देवेंद्र से यह जानने की कोशिश कर रही है कि रायबरेली में हुई सड़क दुर्घटना हादसा था या साजिश.

पूछताछ में देवेंद्र ने कहा, “मैं बेकसूर हूं. मेरा विधायक कुलदीप सेंगर या उसके किसी परिचित से कोई वास्ता नहीं है. मैं पीड़िता या उसके परिवार को भी नहीं जानता, न कभी मिला या देखा. ये मुझे फसाने की साजिश है. मैं सीबीआई की जांच में पूरा सहयोग करने के लिए तैयार हूं.”

उसने कहा कि सीजर की कार्यवाही से बचने के लिए मैंने ट्रक के नम्बर को ब्लैक कराया था. मुझे कल सीबीआई अफसर का फोन आया था जिसके बाद मैं फतेहपुर से लखनऊ सीबीआई दफ्तर आया हूं. वहीं, क्लीनर और ड्राइवर ने बताया कि हादसे के वक्त कार की रफ्तार काफी तेज थी जिसके चलते हादसा हुआ.

पीड़िता की सुरक्षा में तैनात पीएसओ को भी सीबीआई ने समन दिया है. सीबीआई ने पीड़िता के चाचा के भी ब्यान दर्ज किए है जिनको दिल्ली के तिहाड़ जेल में शिफ्ट किया गया है.

पीड़िता को हुआ निमोनिया
किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती दुष्कर्म पीड़िता की हालत अभी भी गंभीर है. पीड़िता को अब निमोनिया हो गया है. केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ संदीप तिवारी ने बताया कि पीड़िता 6 दिन से वेंटिलेटर पर है, अब उसे निमोनिया हो गया है. उसकी हालत में अभी कोई विशेष सुधार नहीं है. डॉक्टरों की टीम उसकी सेहत पर लगातार नजर रखे हुई है.

डॉ तिवारी ने कहा, “कोई भी मरीज जब ज्यादा दिनों तक वेंटिलेटर पर रहता है तो उसमें निमोनिया जैसे लक्षण बनने लगते हैं. पीड़िता को निमोनिया होने का यही कारण है. उसकी हालत पहले जैसी ही बनी हुई है.”

उन्होंने ने बताया कि पीड़ित युवती की कई हड्डियां टूटी हुई हैं. उसके सीने में भी चोट है. उसकी हालत में मामूली सुधार हुआ है, लेकिन इसे संतोषजनक नहीं कहा जा सकता.

ये भी पढ़ें-

बिहार में बाढ़ की तबाही पर नीतीश के मंत्री ने दिया संवेदनहीन बयान, बोले- मौत तो स्वाभाविक चीज है

जम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रियों को किया जाएगा एयरलिफ्ट, पर्यटक तेजी से छोड़ रहे हैं घाटी

क्या संविधान में जम्मू कश्मीर की सीमा दोबारा तय करने का प्रावधान है? जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *