यूपी में शुरू हुआ हेल्पलाइन नंबर 1076, CM खुद करेंगे निगरानी

इस हेल्पलाइन में दर्ज शिकायत तभी बन्द होगी जब शिकायतकर्ता खुद कहेगा कि उसकी समस्या का समाधान हो गया है.
Helpline Number 1076, यूपी में शुरू हुआ हेल्पलाइन नंबर 1076, CM खुद करेंगे निगरानी

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी ने गुरुवार को लोकभवन में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 1076 का लोकार्पण किया. उन्होंने कहा कि, ‘प्रदेश की जनता के प्रति सरकार की जवाबदेही को यह हेल्पलाइन तय करेगी. लोकतंत्र में जनता से संवाद जरूरी है और मुख्यमंत्री हेल्पलाइन इसका बड़ा साधन बनेगी. उन्होंने कहा कि जनता के बीच जाकर पाता चला है कि जो लाभार्थी है, उनको यही नहीं पता है की जो सुविधा उन्हें मिली है वह सरकार द्वारा मिली है. इसका कारण सिर्फ संवादहीनता थी.’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘इस हेल्पलाइन में शिकायतकर्ता उत्तर प्रदेश में किसी भी स्थान से फोन कर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है. अब 360 डिग्री को अपनाकर काम करना होगा. यह सुविधा 24 घंटे उपलब्ध रहेगी. यह हेल्पलाइन शिकायतकर्ता की परेशानी का जब तक निराकरण नहीं करती तब तक इसका फॉलोअप किया जाएगा.’

‘इस हेल्पलाइन में दर्ज शिकायत तभी बन्द होगी जब शिकायतकर्ता खुद कहेगा कि उसकी समस्या का समाधान हो गया है. यदि इस दौरान कोई झूठी शिकायत करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. मुख्यमंत्री बनने के बाद लगातार हमने जनता दर्शन का कार्यक्रम रखा, 22 लाख मामले सामने आए जिसमें 20 लाख मामलों का निस्तारण किया गया.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि, ‘इस हेल्पलाइन नंबर के जरिए एक दिन में 80 हजार इनबाउण्ड कॉल्स तथा 55 हजार आउटबाण्ड कॉल्स की क्षमता है. इस हेल्पलाइन के माध्यम से किसी भी विभाग से जुड़ी समस्या को दर्ज कराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि शिकायत करने के 3-4 दिन के भीतर शिकायतकर्ता से इस बात की जानकारी ली जाएगी कि उनके द्वारा की गई शिकायत का निस्तारण हुआ है की नहीं. इतना ही नहीं शिकायतकर्ता ही यह वैरिफाई करेगा कि उसकी समस्या का समाधान हो गया है. जिन अधिकारियों के द्वारा समस्या का समाधान नहीं किया जाएगा. उनके खिलाफ भी ऐक्शन लिया जाएगा.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि, ‘अब तक प्रदेश के दूर दराज इलाकों से लोगों को सैकड़ों रुपये खर्च कर अपनी समस्या के निराकरण के लिए लखनऊ आना पड़ता था. इस हेल्प लाइन के शुरू हो जाने से शिकायतकर्ता घर बैठकर अपनी समस्या शासन तक पहुंचा पाएंगे. उन्होंने कहा कि इस हेल्प लाइन के शुरू होने से 500 नवयुवक एवं युवतियों को रोजगार प्राप्त हुआ है.’

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि, ‘सीएम हेल्पलाइन में आने वाली शिकायतों को गंभीरता से लें और उनका निस्तारण करें. उन्होंने चेतावनी दी कि हर महीने के अंत में वे हेल्पलाइन में आई शिकायतों में से 100 मामलों का चुनाव कर शिकायतकर्ता से खुद फीडबैक लेंगे. अगर शिकायतकर्ता संतुष्ट नहीं हुआ तो संबंधित अधिकारी की जवाबदेही तय होगी और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इसे अधिकारियों के एसीआर से जोड़ा जाएगा. खराब प्रदर्शन करने वालों की छुट्टी होगी.’

इससे पहले उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि, ‘सीएम हेल्पलाइन 1076 वरदान की तरह साबित होगा. उन्होंने कहा कि यह नई टेक्निक नई क्रांति की योजना है, जिसके लिए केंद्र और राज्य सरकार एक साथ मिलकर एक दिशा में काम कर रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा कि लोगों को कैसे उनके टैलेंट के हिसाब से रोजगार दिया जाए सरकार इस पर भी काम कर रही है. ई टेंडरिंग के माध्यम से हमने विभाग में ईमानदारी लाने का प्रयास किया है.’

मुख्यमंत्री ने हेल्पलाइन 1076 के लोगो का निर्माण करने वाले राजवीर सिंह को प्रमाण पत्र और 21 हजार का चेक देकर सम्मानित किया. इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग आलोक सिन्हा समेत सभी वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे.

Related Posts