VIDEO: एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या से कांप उठा हमीरपुर, घर के भीतर सिर्फ खून और लाशें

पुलिस इस मामले की तफ्तीश में जुटी हुई है लेकिन घर से किसी भी तरह की कोई चीज गायब ना होने की बात सामने आई है. पुलिस इस मामले को डकैती से ना जोड़कर बल्कि परिवारिक विवाद से जोड़कर देख रही है.

लखनऊ: सूबे के हमीरपुर जिले से दिलदहला देने वाली वारदात सामने आई है. लूट के बाद बदमाशों ने एक परिवार के दो मासूम बच्चों समेत पांच लोगों की पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी. ये वारदात बुधवार रात की है, जिसके बाद से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है.

जानकारी के मुताबिक हमीरपुर शहर के रानी लक्ष्मीबाई मोहल्ले में लूट के लिए बदमाश घर में घुसे थे. बदमाशों ने पहचाने जाने के डर से हत्या की वारदात को अंजाम दिया. इसके बाद हत्यारे घटनास्थल से फरार हो गए. इस वारदात का खुलासा तब हुआ जब परिवार का एक सदस्य घर वापस आया. फिलहाल हत्यारों का कोई सुराग नहीं लगा है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. इस घटना के बाद पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. मृतकों में दो बच्चे, एक वृद्ध और दो महिलाएं शामिल हैं.

पांच हत्याओं की वारदात कलक्ट्रेट की सेवा से रिटायर्ड चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी नूरबख्श के घर में हुई. थाना बिवांर के बिहूंनी गांव में एक शादी समारोह में शामिल होने के बाद नूरबख्श बृहस्पतिवार रात घर में घुसे तो भीतर परिवार के लोगों के शव अलग-अलग स्थितियों में पड़े नजर आए.

हत्या का शिकार हुए लोगों में नूरबख्श की मां शकीना (85), नूरबख्श का बेटा रईस (28), रईस की पत्नी रोशनी (25), रईस की बेटी आलिया (03), नूरबख्श की बेटी गुड़िया की बेटी रोशनी (11) शामिल थीं। सभी के सिर पर शरीर पर धारदार हथियार या पत्थर जैसी भारी चीज से हमले के निशान थे.

परिवार और आसपास के लोगों से पूछताछ में पुलिस को जानकारी मिली है कि नूरबख्श ने दो शादियां की थीं. वारदात के केंद्र में नूरबख्श की पहली पत्नी का बेटा और बहू आए हैं. दूसरी पत्नी और बेटा शहर में ही कालपी चौराहे पर अलग मकान में रहते हैं. हत्या का शिकार हुआ नूरबख्श का बेटा रईस ट्रक ड्राइवर है. दूसरी पत्नी का बेटा भी ट्रक चलाता है. पुलिस दूसरी पत्नी व बेटे से भी पूछताछ की तैयारी में है.