भाजपा प्रत्याशी निरहुआ ने कहा अगर ऐसा होता तो वो मुलायम और अखिलेश का करते समर्थन

आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं. भाजपा ने यहां से भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ को प्रत्याशी बनाया है.

लखनऊ: आजमगढ़ से भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने ऐसा बयान दिया है जिससे पार्टी के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती है. भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ का कहना है कि अगर मुलायम सिंह यादव या अखिलेश यादव प्रधानमंत्री पद की दौड़ में होते तो वह उनका समर्थन करते लेकिन सपा प्रमुख तो सिर्फ ”ईमानदार” नरेंद्र मोदी को हटाने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं.

अखिलेश मोदी को रोकने क्यों जा रहे हैं- निरहुआ
निरहुआ ने आरोप लगाया कि अखिलेश और सपा ने यादवों की पहचान ‘देशविरोधी’ के रूप में बना रखी है और यह बात उनके ”अंधभक्तों” को समझ नहीं आ रही है. ‘निरहुआ’ ने एक समाचार एजेंसी को दिए साक्षात्कार में कहा, ”अखिलेश यादवों के नेता कहलाते हैं और ‘यादव’ कहते ही लोगों को लगता है कि सपा का आदमी है. अगर आप यादवों की पहचान बन गए हैं तो आप उस पहचान को इतना नीचे क्यों गिरा रहे हैं? आप गठबंधन करके एक ईमानदार आदमी (मोदी) को रोकने जा रहे हैं. ऐसा क्यों ?”

निरहुआ का बड़ा बयान
भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार ने कहा, ” अगर मुलायम सिंह यादव प्रधानमंत्री पद की दौड़ में होते तो मैं उनका समर्थन करता. अगर अखिलेश जी प्रधानमंत्री बनने वाले होते तो मैं उनका समर्थन करता. लेकिन वह तो दौड़ में नहीं हैं. वह तो ऐसे आदमी (राहुल गांधी) को प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं जो कहता है कि हमारी सरकार बनी तो सीमा से सेना पीछे कर लेंगे और देशद्रोह का कानून खत्म कर देंगे.”

यादवों की शान को गिरा रहे हैं अखिलेश- निरहुआ
उन्होंने कहा, ”आप (अखिलेश) प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में शामिल होते तो समझ में आता कि आप मोदी जी से लड़ना चाहते हैं. आपको प्रधानमंत्री बनना नहीं है फिर भी आप यादवों की शान को गिरा रहे हैं. आप क्या यह बताना चाहते हैं कि यहां के यादव देश के विरोध में रहते हैं?”

निरहुआ, भाजपा प्रत्याशी निरहुआ ने कहा अगर ऐसा होता तो वो मुलायम और अखिलेश का करते समर्थन

सपा राष्ट्रवाद के खिलाफ है- निरहुआ
‘निरहुआ’ ने एक सवाल के जवाब में कहा, ”अखिलेश के अंधभक्त कह रहे हैं कि मुझे गंभीरता से न लिया जाए. इन अंधभक्तों को समझ में आना चाहिए कि अखिलेश ने यादवों की पहचान देश विरोधी की तरह बना रखी है.” राष्ट्रवाद के मुद्दे पर उन्होंने कहा, ”यह सबसे बड़ा मुद्दा है और होना भी चाहिए. लेकिन सपा राष्ट्रवाद के खिलाफ है. वह तुष्टिकरण की राजनीति करती है. ”

आजमगढ़ में माहौल बन चुका है
दिनेश लाल यादव ने यह भी दावा किया कि आजमगढ़ में अखिलेश यादव के सारे समीकरण उलट गए हैं. ‘निरहुआ’ ने कहा, ”आजमगढ़ में माहौल है. प्रधानमंत्री मोदी के कार्यों एवं योजनाओं का लाभ हर घर तक पहुंचा है. लोगों ने पहले से ही मन बना लिया है.”

ये भी पढ़ें- ‘अहंकार में दीदी ने मुझसे नहीं की बात’, बोले पीएम मोदी- बंगाल में लगता है ट्रिपल T टैक्‍स

मैं राजनीति में रहूंगा और भाजपा में ही रहूंगा- निरहुआ
निरहुआ ने एक सवाल के जवाब में कहा, ”मैं राजनीति में रहूंगा और भाजपा में ही रहूंगा. मैं आजमगढ़ में एक-एक व्यक्ति को भाजपा से जोड़ूंगा. मैं जतिवाद और वंशवाद की राजनीति खत्म करने आया हूं.”

आजमगढ़ का चुनाव
आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं. भाजपा ने यहां से भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ को प्रत्याशी बनाया हुआ है. इस सीट पर छठवें चरण में मतदान होना है. यहां का मुकाबला बड़ा ही दिलचस्प होने वाला है. भाजपा ने यहां से दिनेश लाल यादव को प्रत्याशी बनाकर इस सीट का मुकाबला रोमांचित बना दिया है.

ये भी पढ़ें- ‘मोदी का राष्ट्रवाद फर्जी है’, सीएम केजरीवाल का पीएम पर हमला