‘मोदी के खिलाफ पर्चा वापस लेने के लिए BJP ने दिया 50 करोड़ का ऑफर’, तेजबहादुर का दावा

बुधवार को चुनाव आयोग ने तेजबहादुर यादव का नामांकन रद्द किए जाने की घोषणा की और उसके अगले ही दिन गुरुवार को उन्‍होंने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर सनसनीखेज आरोप लगा दिए.

वाराणसी: पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी सीट से नामांकन भरने वाले बर्खास्‍त BSF जवान तेजबहादुर यादव ने सनसनीखेज खुलासा किया है. उन्‍होंने दावा है कि बीजेपी ने उन्‍हें पर्चा वापस लेने के लिए 50 करोड़ का ऑफर दिया था.

तेजबहादुर ने वाराणसी सीट से पहले निर्दलीय और बाद में महागठबंधन (सपा-बसपा-आरएलडी) प्रत्‍याशी के तौर पर नामांकन भरा था. चुनाव आयोग ने यह कहते हुए उनका नामांकन खारिज कर दिया कि वह बीएसएफ से बर्खास्‍त किए गए हैं और उन्‍होंने चुनाव आयोग एक सर्टिफिकेट लाना था, जो वह निर्धारित अवधि में नहीं दे सके.

वाराणसी के डीएम ने बुधवार को उनका नामांकन रद्द किए जाने की घोषणा की और उसके अगले ही दिन गुरुवार को तेजबहादुर ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर सनसनीखेज आरोप लगा दिए.

तेजबहादुर ने कहा, ’50 करोड़ का ऑफर दे कर मुझे पहले खरीदने की कोशिश की गई, फिर धमकी दी गई कि तुम्हें मार दिया जाएगा. मुझे पहले से मालूम था कि यह हर तरह के हथकंडे अपना कर, मेरा पर्चा खारिज कराएंगे. मोदी जी ने जब मुझे नौकरी से बर्खास्त किया और जब मेरे बच्चे की मृत्‍यु होती है, उसी दिन से मैंने प्रतिज्ञा ली थी कि मोदी जी के खिलाफ बनारस से चुनाव लड़ूंगा’.

तेजबहादुर ने कहा, ‘मेरे निर्दल पर्चा भरने के बाद बीजेपी के लोगों ने मुझसे संपर्क करके मुझे 50 करोड़ का ऑफर देते हुए कहा था कि पर्चा वापस ले लो. मैंने ऑफर देने वालों से एक ही सवाल किया था कि आप लोगों की वजह से ही मेरे बच्चे की मृत्यु हुई तो क्या आप मेरे बच्चे को वापस ला सकते हैं.’

जब पत्रकार ने तेजबहादुर से पूछा कि आपको यह 50 करोड़ का ऑफर किसने दिया तो तेज बहादुर ने कहा कि बीजेपी के लोगों ने दिया. नाम पूछे जाने पर तेज बहादुर ने कहा कि मैं नाम नहीं बता सकता, आप जानते हो कि आज हालात क्या हैं, देश के, नाम बता दूंगा तो यह लोग मरवा देंगे.

ये भी पढ़ें-वाराणसी से सपा प्रत्याशी तेज बहादुर यादव की उम्मीदवारी रद्द, बोले-सुप्रीम कोर्ट जाएंगे

ये भी पढ़ें- जानें, EC ने क्‍यों रद्द कर दी वाराणसी सीट से तेजबहादुर यादव की उम्‍मीदवारी