उत्तर प्रदेश: कोरोना महामारी के बीच गोरखपुर में 300 चमगादड़ों की मौत से हड़कंप

एक बगीचे में ये चमगादड़ मृत पाए गए हैं. चमगादड़ों (Bats) के शवों को पोस्‍टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है. अधिकारी भी इस संबंध में पोस्‍टमार्टम के पहले कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं हैं.

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर (Gorakhpur) के दक्षिणांचल में बेलघाट गांव के एक बाग में 300 चमगादड़ों की मौत से हड़कंप मच गया है. बताया जा रहा है कि एक बगीचे में ये चमगादड़ मृत पाए गए. चमगादड़ों (Bats) के शवों को पोस्‍टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

बेलघाट स्थित ध्रुव नारायण शाही के बाग में सुबह बड़े पैमाने पर चमगादड़ मृत देखे गए. थोड़ी देर में मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई. कोरोना संक्रमण को लेकर ग्रामीणों में चमगादड़ से दहशत भी है. सुबह 11 बजे इस संबंध में सूचना मिलने के बाद खजनी रेंजर देवेंद्र कुमार भी मौके पर पहुंचे. मृत चमगादड़ों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है. ऐसी आशंका है कि भीषण गर्मी और तालाब के सूखे होने की वजह से चमगादड़ों की मौत हो सकती है.

बेलघाट स्थित राधाकृष्‍ण सत्‍संग मंदिर के बाग में भी कुछ चमगादड़ मरे हुए पाए गए हैं. ये चमगादड़ ध्रुव नारायण शाही के बाग से थोड़ी दूर स्थित रोहित शाही के बाग के पेड़ पर रहते रहे हैं. सोमवार दोपहर करीब दो बजे भी कुछ चमगादड़ मृत पाए गए थे. डीएफओ अविनाश कुमार का कहना है कि 30 से 35 चमगादड़ों की मौत की बात सामने आई है. शवों को पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है. रिपोर्ट आने के बाद ही साफ़ तौर पर कुछ बताया जा सकता है. मृत पाए गए चमगादड़ों में से तीन के शव सुरक्षित जार में रखकर उसे पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है.

कोरोना महामारी के बीच अचानक हुई चमगादड़ों की मौत से जहां दहशत का माहौल है. तो वहीं अधिकारी भी इस संबंध में पोस्‍टमार्टम के पहले कुछ भी कहने की स्थित में नहीं होने की बात कह रहे हैं. लेकिन चमगादड़ों की मौतों ने संकट की इस घड़ी में लोगों में दहशत तो पैदा कर ही दी है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts