जांबाज दारोगा ने अंगारों से खेलते हुए परिवार की जान बचाई, लिपट कर रोने लगे घरवाले

ग्रेटर नोएडा के एक घर में आग लग गई. आग की सूचना पुलिस चौकी पर दी गई तो चौकी इंचार्ज ने खुद जान पर खेलकर घर से दो सिलेंडर निकाले.

ग्रेटर नोएडा के एक कस्बे में दरोगा ने बड़ा हादसा होने से बचा लिया. एक घर में लगी आग में से जान पर खेल कर एलपीजी सिलेंडर निकाले जिनमें ब्लास्ट हो सकता था. दरोगा की इस बहादुरी की कस्बे में तारीफ हो रही है और उन्हें पुरस्कृत करने की मांग हो रही है.

बिलासपुर, ग्रेटर नोएडा के दनकौर कस्बे में शिव मंदिर के सामने सुंदर सिंह का घर है. 3 मई की दोपहर 3 बजे इस घर में आग लगी. आग लगते ही इसकी सूचना बिलासपुर पुलिस चौकी में दी गई. सूचना मिलते ही चौकी इंचार्ज अखिलेश दीक्षित तुरंत मौके पर पहुंचे. कंबल ओढ़कर आग में कूद पड़े और अंदर से दो सिलेंडर निकालकर बाहर निकाल लाए. जरूरी सामान भी बाहर निकाला.

Noida, जांबाज दारोगा ने अंगारों से खेलते हुए परिवार की जान बचाई, लिपट कर रोने लगे घरवाले

अखिलेश दीक्षित के इस एक्शन से कस्बे वाले बहुत खुश दिखे. जिसके घर में आग लगी वो भावुक हो गए. घर में रहने वाली बुजुर्ग महिला अखिलेश से लिपटकर रो पड़ी. घर के आस पास जुटे हुए लोग तारीफें करते नहीं थक रहे थे. हादसा भयानक था, जान का खतरा था लेकिन फिर भी अखिलेश ने हिम्मत दिखाई. इसके लिए वहां के लोग उनके लिए पुरस्कार की मांग भी कर रहे हैं. अखिलेश दीक्षित ने बताया कि शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है और न ही आग लगने के कारणों का पता चला है.

ये भी पढ़ें:

प्रियंका गांधी के ‘कोबरा स्टंट’ की वो बातें जो कोई नहीं देख पाया!

‘वोट कटवा उम्मीदवार’ उतारकर कांग्रेस ने क्या पहले से हार मान ली है?

ट्विटर पर #BlockTwitter अभियान: जिस डाल पर बैठे उसी को काटने में जुटे लोग

मोदी से संपर्क साध चुके 40 विधायकों को बचाने का ममता के पास है एक ही रास्ता!