अयोध्‍या में तीन धातु के रामलला की पहली झलक, मुख्‍य पुजारी बोले- इसे मंदिर में स्‍थापित कराएंगे

यह रामलला का तरुण रूप है. अभी जो रामलला अस्थायी तौर पर स्थापित हैं, वह बाल रूप में हैं, उन्हीं के साथ तरुण रूप वाली नई प्रतिमा को स्थापित किया जाएगा.

तीन धातुओं से बनी रामलला की प्रतिमा की पहली तस्वीर सामने आई है. जब अयोध्या में राम मंदिर बनेगा तो ‘यही’ रामलला वहां पर स्थापित होंगे. जिस मंदिर में ये रामलला विराजमान हैं, उसके मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने पहली बार रामलला की ये प्रतिमा दिखाई है.

सत्येंद्र दास जी ने अभी अपने मंदिर में इस प्रतिमा को स्थापित करके रखा हुआ है. रामलला की ये प्रतिमा किष्किंधा (आधुनिक हम्पी, कर्नाटक) के पंपा सरोवर क्षेत्र से आई है, जिसे सोना, चांदी और पीतल जैसे तीन धातुओं से तैयार किया गया है.

यह रामलला का तरुण रूप है. अभी जो रामलला अस्थायी तौर पर स्थापित हैं, वह बाल रूप में हैं, उन्हीं के साथ तरुण रूप वाली नई प्रतिमा को स्थापित किया जाएगा. रामलला की देखरेख कर रहे महंत सत्येंद्र दास ने TV9 भारतवर्ष से खास बातचीत में हमसे कहा कि अभी तक इसे गोपनीय रखा गया था, पर आपका भाव देखते हुए इसे दिखा रहा हूं.

सत्येंद्र दास ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के समय वह इसे संत समाज के सामने रखेंगे और इसे स्थापित कराने का प्रयास करेंगे. रामलला की प्रतिमा के साथ सीता जी, लक्ष्मण जी और हनुमान जी भी हैं. इन प्रतिमाओं को वैदिक मंत्रों के साथ स्थापित किया जाएगा.

 

ये भी पढ़ें-   IPL में ओपनिंग सेरेमनी बंद, नो-बॉल देखने के लिए होगा फोर्थ अंपायर

200 किमी पैदल चल विवादित इमारत पर कोठारी बंधुओं ने फहराया था भगवा झंडा, पढ़ें पूरा किस्सा