मंत्री पद से इस्तीफे के बाद बोले धर्मपाल सिंह- भ्रष्टाचार साबित हुआ तो छोड़ दूंगा विधायकी

धर्मपाल सिंह ने कहा कि मेरा सार्वजनिक जीवन बेदाग रहा है. मेरी बरेली में मेरी कोई कोठी नहीं है.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में सिंचाई मंत्री रहे धर्मपाल सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफे के बाद मीडिया से बातचीत में शुक्रवार को उनका दर्द छलकर बाहर आया. धर्मपाल ने कहा कि सरकार चाहे तो जांच करा ले, मैं इसके लिए तैयार हूं. उन्होंने कहा कि अगर मैं भ्रष्टाचार का दोषी पाया गया तो विधायकी से भी इस्तीफा दे दूंगा.

धर्मपाल ने कहा, “पार्टी मां होती है. पार्टी जो भी निर्णय करती है, वह हितकारी होता है. मंत्रिमंडल से पृथक करने के निर्णय का स्वागत करता हूं. मंत्री पद जाने पर कोई पीड़ा नहीं है.”

‘जीवनभर की तपस्या भंग कर दी गई’
उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा कि भ्रष्टाचार के आरोप उछालकर जीवनभर की तपस्या भंग की गई है. कुछ लोगों ने ऐसे आरोप लगाए. लंबे बेदाग राजनीतिक सफर को लेकर ऐसे बातें कही गईं, जिनका सच से कोई संबंध नहीं है.

धर्मपाल ने कहा कि ‘मेरा सार्वजनिक जीवन बेदाग रहा है. मेरी बरेली में मेरी कोई कोठी नहीं है. जहां तक इस्तीफे का सवाल है तो पार्टी के निर्देशों का पालन किया है. आगे भी करते रहेंगे. पार्टी ने मेरे लिए कुछ अच्छा ही सोचा होगा.’

ये भी पढ़ें-

रिपोर्ट में खुलासा- भारतीय मिसाइल का ही निशाना बना था IAF हेलीकाप्टर, 7 की गई थी जान

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर पर UN को फिर लिखा प्रोपेगेंडा लेटर, मालदीव ने भी नहीं दिया भाव

पीएम मोदी अबू धाबी पहुंचे, क्राउन प्रिंस से होगी मुलाकात फिर UAE देगा ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ सम्‍मान