39 मिनट में 32 KMs दौड़ी, सरकारी एम्‍बुलेंस ने मरीज को दी नई जिंदगी

सेक्टर 8 में रहने वाली 15 साल की नेहा परवीन 36 हजार वॉल्ट की बिजली लाइन की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गई थी.

वैसे तो ग्रीन कॉरिडोर बनाकर तेज रफ्तार से एम्बुलेंस को अस्पताल पहुंचाकर कई जिंदगी बचाई गई हैं, लेकिन नोएडा में एक सरकारी अस्पताल की एम्बुलेंस ने ऐसा कारनामा करके दिखा दिया, जिससे लोग हैरान हैं और ऐसा करने वालों की काफी प्रशंसा कर रहे हैं.

दरअसल रविवार को सेक्टर 8 में रहने वाली 15 साल की नेहा परवीन 36 हजार वॉल्ट की बिजली लाइन की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, परिवार वालों ने एम्बुलेंस को बुलाया, जिसके बाद नाबालिग को गंभीर हालत में सेक्टर 30 के जिला अस्पताल पहुंची.

जिला अस्पताल में डॉक्टरों ने नेहा की जांच करने के बाद उसे तुरंत दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेफर कर दिया. इस मामलों को लेकर जिला कॉर्डिनेटर ने बताया कि अस्पताल ने एक घंटे के सफर को 39 मिनट में ही तय कर लिया. उन्होंने बताया कि ईएमटी विजय पाल सिंह और पायलट रजत कुमार ने सराहनीय कदम उठाते हुए 32 किलोमीटर का सफर 39 मिनट में तय किया.

रिपोर्ट के अनुसार, नेहा के चाचा ने बताया कि वह कपड़े सुखाने के लिए छत पर गई थी और तभी वह 36 वॉल्ट लाइन की चपेट में आ गई थी.

 

ये भी पढ़ें-   इस्टर्न इकॉनोमिक फोरम में मुझे बुलाना सम्मान की बात, रूसी राष्ट्रपति पुतिन से बोले पीएम मोदी

ब्रेग्जिट पर वोटिंग से पहले बड़ा झटका, ब्रिटिश PM बोरिस जॉनसन ने संसद में खोया बहुमत