‘GRP ने शामली ट्रेन हादसा कवर करने गए पत्रकार को बुरी तरह पीटा, कपड़े उतरवा पेशाब पिलाया’

पत्रकार ने कहा कि GRP कर्मचारियों ने घटनास्‍थल पर गाली-गलौज और मारपीट की.

नई दिल्‍ली: उत्‍तर प्रदेश के शामली में मंगलवार को ट्रेन हादसा हो गया. धीमानपुरा फाटक के पास ट्रैक बदलने के दौरान एक मालगाड़ी की तीन बोगियां पटरी से उतर गईं. इस हादसे को कवर करने गए एक पत्रकार को राजकीय रेलवे पुलिस (GRP) कर्मचारियों ने पीट दिया.

घटना का वीडियो सामने आया है और तेजी से वायरल हो रहा है. आरोप है कि GRP वालों ने सादी वर्दी में पत्रकारों को पीटा, गालियां दी और फिर कपड़े उतरवाए. पत्रकार ने ANI से बातचीत में कहा कि GRP कर्मचारियों ने घटनास्‍थल पर गाली-गलौज और मारपीट की.

पुलिसवालों ने उसका कैमरा छीनने की कोशिश की तो कैमरा नीचे गिर गया. पत्रकार जैसे ही कैमरा उठाने झुका को GRP वालों ने उसपर धावा बोल दिया. पुलिसवाले ने भद्दी-भद्दी गालियां देते हुए लात-घूसे बरसाना जारी रखा. पत्रकार का आरोप है कि उसे हवालात में बंद किया गया और मुंह में पेशाब की गई.

वीडियो सामने आने के बाद शामली GRP इंस्‍पेक्‍टर राकेश कुमार और सिपाही सुनील कुमार को तत्‍काल प्रभाव से सस्‍पेंड कर दिया गया है. पत्रकार को छोड़ने का आदेश दिया गया है.

शामली स्‍टेशन पर मालगाड़ी की शंटिंग के दौरान तीन बोगियां पटरी से उतर गईं तो मुख्‍य ट्रैक पूरी तरह बंद हो गया. बोगियां हटाए जाने के बाद ट्रेनों का संचालन तो शुरू हो गया है, मगर क्षतिग्रस्‍त ट्रैक को दुरुस्‍त किया जा रहा है. हादसे के चलते धीमानपुरा फाटक के दोनों तरफ जाम लग गया.

एक महीने पहले शामली रेलवे स्‍टेशन को बम से उड़ाने की धमकी मिली थी. जब बोगियां पटरी से उतरीं तो जोर से धमाके जैसी आवाज हुई. इससे आसपास की कॉलोनियों में रहने वाले लोग सहम गए. शहर में स्‍टेशन पर बम फटने की अफवाहें उड़ती रहीं.

ये भी पढ़ें

आग की भट्टी बनी स्लीपर-जनरल बोगी, केरल एक्सप्रेस में सवार 4 यात्रियों की चली गई जान

ट्रेन में चंपी और मालिश की सुविधा पर बोले लोग, ‘टाइम कम और रेट ज्यादा’

तीन रेलवे अफसरों को 92 किमी साथ ले गए यात्री, कोच का AC खराब होने पर दिखाई दबंगई