अचानक खेलते-खेलते गायब हुए मासूम बच्चे, भूसे के ढेर में दफन मिली दोनों की लाशें

मासूमों के पिता श्रीकृष्ण यादव ने आशंका जताई कि किसी ने गला घोंटकर हत्या के बाद दोनों शवों को भूसे के ढेर में छिपाया होगा.

उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के मटौंध थाना क्षेत्र के दुरेंडी गांव के मजरे बजरंग पुरवा में गुरुवार दोपहर को गायब हुए मासूम भाई और बहन के शव शाम को उनके ही घर के अंदर भूसे के ढेर में पाए गए.

अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) लाल भरत कुमार पाल ने बताया कि मटौंध थाना क्षेत्र के दुरेंडी गांव के मजरे बजरंग पुरवा में श्रीकृष्ण यादव का डेढ़ साल का बेटा आदर्श और बेटी सृष्टि (तीन साल) गुरुवार दोपहर घर के आंगन में खेलते-खेलते अचानक गायब हो गए थे. पहले परिजनों ने अपहरण की आशंका जताई थी. लेकिन, जब पुलिस की मौजूदगी में अपने ही घर के अंदर भूसे के ढेर में ढूंढा तो दोनों बच्चों के शव वहां पाए गए.

उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि दोनों बच्चे खेल-खेल में भूसे के ढेर में घुस गए, जहां दम घुटने से उनकी मौत हुई होगी. एएसपी ने बताया कि दोनों बच्चों के शव पोस्टमॉर्टम के लिए सरकारी अस्पताल में सुरक्षित कर लिए गए हैं. शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम के बाद मौत के असली कारणों का पता चलेगा.

मासूमों के पिता श्रीकृष्ण यादव ने आशंका जताई कि किसी ने गला घोंटकर हत्या के बाद दोनों शवों को भूसे के ढेर में छिपाया होगा.