जॉनसन एंड जॉनसन के बेबी शैंपू की UP में बिक्री पर रोक, इस वजह से लिया गया फैसला

एफएसडीए के सहायक आयुक्त रमाशंकर ने बताया कि जयपुर में जॉनसन एंड जॉनसन के शैंपू में फार्मेल्डिहाइड के तत्व पाए गए थे. ये बच्चों की सेहत के लिए काफी हानिकारक होते हैं.

नई दिल्ली: जॉनसन एंड जॉनसन के बेबी शैंपू प्रॉडक्ट की उत्तर प्रदेश में बिक्री पर रोक लगा दी गई है. ये फैसला शैंपू में रसायनिक तत्व फार्मेल्डिहाइड पाए जाने के बाद लिया गया है. खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन (एफएसडीए) की टीम ने बुधवार को लखनऊ के ट्रांसपोर्ट नगर स्थित कंपनी के डिपो पर छापेमारी की थी. इन दौरान शैंपू, बेबी ऑयल, मसाज ऑयल, माश्चराइजर, फेस क्रीम के नमूने लिए गए.

इस छापेमारी में पता चला कि बीबी-58204 बैच के 100 मिलीलीटर के शैंपू के 16,704 पैक बलरामपुर, कानपुर, आजमगढ़, वाराणसी, बाराबंकी, फैजाबाद, प्रयागराज सहित पूरे यूपी में सप्लाई किए गए हैं. इनकी बिक्री पर रोक लगा दी गई है.

एफएसडीए के सहायक आयुक्त रमाशंकर ने बताया कि जयपुर (राजस्थान) में जॉनसन एंड जॉनसन के शैंपू (बैच नंबर बीबी 58204) में फार्मेल्डिहाइड के तत्व पाए गए थे. ये बच्चों की सेहत के लिए काफी हानिकारक होते हैं.

रमाशंकर ने बताया कि फार्मेल्डिहाइड एक कार्बन यौगिक है. इससे त्वचा और स्वांस संबंधी बीमारियां हो सकती हैं. साथ ही इससे कैंसर होने का भी खतरा रहता है. खाद्य सामग्रियों और शरीर पर प्रयोग होने वाले उत्पादों में इसकी मिलावट पर बैन लगाया गया है.

उन्होंने आगे बताया कि फार्मेल्डिहाइड शरीर के रोम छिद्रों को बंद कर देता है. साथ ही त्वचा और आंतरिक कोशिकाएं पर भी बुरा असर डालता है. शैंपू या तेल में इसे मिला देने से पसीना नहीं निकलता है जो अच्छी सेहत के लिए ठीक नहीं हैं.

Read Also: Exclusive: बेटी की उम्र की लड़की से शादी करने वाला नहीं हो सकता मेरा पिता- प्रज्ञा का दिग्विजय पर हमला