उन्नाव रेप केस: AIIMS में लगी अदालत, पीड़िता का बयान दर्ज करने पहुंचे जज

तीस हजारी कोर्ट के जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने एम्स के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट को ट्रॉमा सेंटर में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के बयान दर्ज करने के आदेश दिया है.

उन्नाव रेप पीड़िता का बयान दर्ज करने के लिए नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में आज अस्थाई अदालत लगाई गई है. मामले की सुनवाई कर रहे जज एम्स पहुंच चुके हैं. पीड़िता का बयान बंद कमरे में दर्ज किया जाएगा जिसे रिकॉर्ड भी किया जाएगा. बीते शुक्रवार को हाई कोर्ट ने एम्स के ट्रॉमा सेंटर में जाकर पीड़िता का बयान दर्ज करने की इजाजत दी थी.

बयान के बाद होगा क्रॉस एग्जामिनेशन
पीड़िता का बयान दर्ज हो जाने के बाद आरोपियों से क्रॉस एग्जामिनेशन किया जाएगा. वहीं, आरोपी शशि सिंह और कुलदीप सेंगर की पेशी भी हुई है. रायबरेली के पास हुई दुर्घटना के बाद पीड़िता का इलाज एम्स में चल रहा है. इसे देखते हुए कोर्ट ने एम्स में अस्थायी कोर्ट बनाकर बयान दर्ज कराने का आदेश दिया था.

तीस हजारी कोर्ट के जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने एम्स के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट को ट्रॉमा सेंटर में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के बयान दर्ज करने के आदेश दिया है. आदेश में कहा गया है कि मामले की सुनवाई खुद न्यायाधीश धर्मेश शर्मा करेंगे. इस दौरान आम लोगों और प्रेस को ट्रॉमा सेंटर में नहीं आने दिया जाएगा.

पीड़िता के साथ मौजूद रहेंगी नर्स
अदालत की ओर से ट्रामा सेंटर के चिकित्सा अधीक्षक को कहा गया है कि जिस समय पीड़िता के बयान दर्ज किए जाएंगे, उस समय उसके साथ अनुभवी व प्रशिक्षित नर्स अधिकारी मौजूद रहेंगी. ये नर्स पीड़िता के डॉक्टर के संपर्क में रहेंगी. इससे बयान दर्ज करने के दौरान उसकी शारीरिक व मानसिक स्थिति का ध्यान रखा जाएगा.

उन्नाव रेप मामले में भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर आरोपी हैं. सेंगर पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता, उसकी चाची और मौसी अपने वकील के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने रिश्तेदार से मुलाक़ात करने जा रही थी, इसी दौरान एक ट्रक ने उनकी कार को टक्कर मार दी थी. इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो रही है.

ये भी पढ़ें-

सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर के सोपोर में लश्कर के मोस्ट वांटेड आतंकी आसिफ को मार गिराया

लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के बीच कैसे होगा संपत्तियों का बंटवारा, जानिए

टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू और बेटे लोकेश नारा नजरबंद, ये है वजह