कमलेश तिवारी मर्डर केस: पकड़ा गया आरोपियों का इलाज कराने वाला मौलाना

इस मौलाना ने बरेली में आरोपियों से मुलाकात की थी और एक घायल हमलावर का इलाज कराया था. उसे लखनऊ लाया जा रहा है.

कमलेश तिवारी मर्डर केस के संदिग्‍धों की मदद करने वाले मौलाना को पकड़ लिया गया है. एंटी टेररिज्‍म स्‍क्‍वाड (ATS) की एक टीम ने बरेली से मौलाना सैयद कैफी अली को हिरासत में लिया. इसने ही आरोपियों से मुलाकात की थी और एक घायल हमलावर का इलाज कराया था. उसे लखनऊ लाया जा रहा है. कैफी अली के पास गुजरात से हत्‍यारों की मदद करने को फोन भी आया था.

हत्या की साजिश रचने वाले गुजरात के सूरत निवासी रशीद अहमद पठान उर्फ राशिद, मौलाना मोहसिन शेख व फैजान यूनुस को मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा. लखनऊ पुलिस तीनों आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर आई है. पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने बताया कि तीनों साजिशकर्ताओं को कड़ी सुरक्षा में एक गोपनीय स्थान पर रखा गया है. उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी को सौंपी गई है.

उन्होंने बताया कि तीनों साजिशकर्ताओं को रविवार देर रात लखनऊ लेकर आया गया था. इस बीच कानपुर देहात का टैक्सी चालक, कानपुर के रेल बाजार स्थित मोबाइल फोन दुकानदार समेत तीन लोगों को भी लखनऊ लाया गया. एसआईटी ने साजिशकर्ताओं व उपरोक्त तीन संदिग्धों से करीब चार घंटे तक पूछताछ की.

कमलेश तिवारी मर्डर केस: आरोपियों से चल रही पूछताछ

सूरत से कमलेश तिवारी की हत्या की साजिश रचने वाले मौलाना मोहसिन, राशिद पठान और फैजान से 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर पूछताछ हो रही है.

इससे पहले सोमवार को एसआईटी के साथ ही एनआईए, एटीएस, आईबी और अन्य एजेंसियों के अधिकारी दिनभर उनसे पूछताछ करते रहे. पूछताछ के अधार पर पुलिस टीमों को अन्य जिलों में भी रवाना किया गया है.

लखनऊ के खुर्शीदबाग में बीते शुक्रवार को दिनदहाड़े हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई थी. नाका थाना क्षेत्र इलाके में तिवारी की चाकुओं से गोदकर हत्या की गई थी.

ये भी पढ़ें

ताकत की दवा खाकर आए थे हत्‍यारे, कई साल तक रची साजिश? पढ़ें कमलेश हत्याकांड की पूरी कहानी

कमलेश हत्याकांड: पुलिस के हाथ लगा बड़ा सुराग, हत्यारे अशफाक की असली फेसबुक आईडी मिली