कमलेश तिवारी हत्याकांड: हाथ पर हाथ धरे रह गई UP पुलिस और हत्यारे चले गए बाहर

यूपी पुलिस के दावों के बावजूद दोनों हत्यारे लगभग आधा यूपी घूमकर गुजरात की तरफ निकल गए लेकिन यूपी में किसी को भनक तक नहीं लगी.

गुजरात एटीएस ने मंगलवार को हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी के फरार चल रहे दो हत्यारे अशफाक और मोइनुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया. दोनों हत्यारों की गिरफ्तारी गुजरात-राजस्थान सीमा से हुई. मालूम हो कि कमलेश तिवारी की बीते शुक्रवार को लखनऊ में उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी.

गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने बताया कि ‘कमलेश तिवारी की हत्या के दो वांटेड आरोपी अशफाक और मोइनुद्दीन पठान को गिरफ्तार किया गया है. दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी गुजरात-राजस्थान बॉर्डर के पास शामलाजी से हुई है. हमारे पास इनपुट था कि दोनों आरोपी गुजरात में दाखिल हो रहे हैं. इसके बाद हमने सीमा पर दबिश की और उन्हें धर दबोचा गया.’

यूपी पुलिस गिरफ्तारी को लेकर करती रही तमाम दावे
वहीं, यूपी पुलिस कमलेश तिवारी के हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर तरह-तरह के दावे कर रही थी. यूपी पुलिस के दावों के बावजूद एक बड़ा सवाल यह है कि हत्या करने के बाद दोनों हत्यारे लगभग आधा यूपी घूमकर गुजरात की तरफ निकल गए लेकिन यूपी में किसी को भनक तक नहीं लगी.

एटीएस की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया कि हत्यारे नेपाल से आकर शाहजहांपुर पहुंचे और वहां से गुजरता की तरफ चले गए. ऐसे में लखनऊ में हत्या करने के बाद दोनों पहले नेपाल गए और फिर नेपाल से वापस यूपी आए.

पैसे की कमी होने की वजह से दोनों हत्यारों ने किसी परिजन से संपर्क किया. इसके बाद वो शाहजहांपुर पहुंचे और वहां से गुजरात निकल गए. लेकिन यूपी पुलिस इनका पता नहीं लगा पाई. जबकि यूपी पुलिस हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लेने के दावे लगातार किए जा रही थी.

हत्यारों को UP पुलिस को सौंपेगी गुजरात ATS
दोनों आरोपियों ने कमलेश तिवारी की हत्या करने की बात कुबूल कर ली है. दोनों आरोपी सूरत के रहने वाले हैं. आरोपियों अशफाक और मोइनुद्दीन को गुजरात एटीएस जल्‍द ही यूपी पुलिस को सौंपेगी.

बता दें कि एटीएस व क्राइब ब्रांच ने शुक्रवार रात को कमलेश तिवारी हत्याकांड के आरोपियों राशिद, सईज और फैजान को गिरफ्तार किया था. राशिद खान लिंबायत इलाके में ग्रीन व्यू सोसायटी में रहता है. वह दर्जी है और कंप्यूटर का जानकार है. फैजान पठाण सूरत के लिंबायत इलाके में ही जिलानी पार्क में रहता है और साड़ी की दुकान पर काम करता है.

ये भी पढ़ें-

‘हम भी लश्कर-ए-तैयबा बना सकते हैं’ बयान पर पूर्व MLA सुरेंद्र नाथ के खिलाफ FIR दर्ज

कठुआ रेप-मर्डर केस की जांच करने वाली SIT पर गवाहों के टॉर्चर का आरोप, FIR दर्ज करने के आदेश

सलमान खुर्शीद हुए इस स्‍कीम के मुरीद, मोदी सरकार की तारीफ करने वाले पांचवें कांग्रेसी