कमलेश तिवारी के हत्यारों को मिले फांसी की सजा, CM योगी से मुलाकात के बाद बोले परिजन

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हत्यारे जिस तरह से आए और सुरक्षा गार्ड से पूछकर कमरे में घुसे. इतना ही नहीं कमलेश के साथ नाश्ता किया और उनके निजी सहायकों को कुछ सामान खरीदने के लिए बाजार भेज दिया. जब वे अकेले हो गए, तब उनकी हत्या कर दी. लगता है कि हत्यारे शातिर अपराधी थे.
Kamlesh Tiwari murder case, कमलेश तिवारी के हत्यारों को मिले फांसी की सजा, CM योगी से मुलाकात के बाद बोले परिजन

हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की मां, पत्नी और बेटे ने रविवार को लखनऊ में सीएम आवास पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. कमलेश तिवारी के परिजनों ने सीएम योगी के सामने 11 मांगें रखी हैं. इसके अलावा उन्होंने हत्यारे के लिए फांसी की सज़ा की मांग की है.

उत्तर प्रदेश के सीएम से मुलाक़ात के बाद परिजनों ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा, “हमने हत्यारों के लिए फांसी की सजा की मांग की है, उन्होंने भरोसा दिया कि उन्हें सजा दी जाएगी.”

मुख्‍यमंत्री ने अपने आवास पर तिवारी की मां कुसुमा, पत्‍नी किरण तिवारी और उनके बेटे से मुलाकात की. इस दौरान उन्‍होंने पीड़ित परिवार को पूरी मदद का आश्‍वासन देते हुए कहा कि सरकार इस गम्‍भीर मामले की गहराई से जांच कर रही है और इसके दोषी लोगों को कतई बख्‍शा नहीं जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक पीड़ित परिवार ने तिवारी के बेटे को सरकारी नौकरी देने, परिवार को सुरक्षा देने, सुरक्षा के लिहाज से परिजन को असलहों के लाइसेंस देने, उनके मुहल्‍ले का नाम तिवारी के नाम पर करने, लखनऊ में तिवारी की मूर्ति स्‍थापित करने और पूरे मामले की सुनवाई फास्‍ट ट्रैक कोर्ट में करने की मांग की. मुख्‍यमंत्री ने उन्‍हें समुचित कार्रवाई का आश्‍वासन दिया है.

इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि इस घटना में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा.

उन्होंने आगे कहा कि समाज में भय का माहोल पैदा करने वाले जो भी तत्व होंगे, उनके साथ पूरी सख्ती बरती जाएगी. हम इस तरह की किसी वारदात को स्वीकार नहीं करेंगे.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हत्यारे जिस तरह से आए और सुरक्षा गार्ड से पूछकर कमरे में घुसे. इतना ही नहीं कमलेश के साथ नाश्ता किया और उनके निजी सहायकों को कुछ सामान खरीदने के लिए बाजार भेज दिया. जब वे अकेले हो गए, तब उनकी हत्या कर दी. लगता है कि हत्यारे शातिर अपराधी थे.

गौरतलब है कि हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को नाका हिंडोला स्थित खुर्शेदबाग इलाके में उनके घर के अंदर गला रेतकर और गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.

इस हत्याकांड के सिलसिले में बिजनौर निवासी आरोपियों मुफ्ती नईम काजमी और मौलाना अनवारुल हक के साथ-साथ गुजरात स्थित सूरत के रहने वाले फैजान यूनुस, मोहसिन शेख और राशिद अहमद को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी है। मामले की जांच के लिये एसआईटी का गठन किया गया है.

Related Posts